होम /न्यूज /राजस्थान /चूरू: 68 दिनों में 884 लोगों को काटा आवारा कुत्तों ने, राजकीय भरतिया अस्पताल के आंकड़ों से खुला राज

चूरू: 68 दिनों में 884 लोगों को काटा आवारा कुत्तों ने, राजकीय भरतिया अस्पताल के आंकड़ों से खुला राज

Government Bhartia Hospital: राजकीय भरतिया अस्पताल के आंकड़ों की मानें तो पिछले 68 दिनों में 884 से अधिक लोगों को आवारा ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट : नरेश पारीक

चूरू. जिले सहित शहर में पिछले कुछ महीने से आवारा कुत्तों का जबरदस्त आतंक बना हुआ है. इनके शिकार लोग प्रतिदिन अस्पताल पहुंच रहे हैं. बीते रविवार को दो दर्जन लोगों को कुत्तों ने काट कर जख्मी कर दिया. कुत्तों के द्वारा हमला किए जाने के मामले रोजाना सामने आ रहे हैं, फिर भी जिला प्रशासन लापरवाह बना हुआ है. राजकीय भरतिया अस्पताल के आंकड़ों की मानें तो पिछले 68 दिनों में 884 से अधिक लोगों को आवारा कुत्ते अपना शिकार बना चुके हैं. इस आंकड़े के मुताबिक, प्रतिदिन औसत 13 लोगों को आवारा कुत्ते ने काट कर जख्मी कर दिया. शहर के नया बस, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन सहित विभिन्न इलाकों में आवारा कुत्तों ने जबरदस्त तांडव मचाया हुआ है.

बता दें कि कुत्ते या अन्य किसी भी पशु के काटने पर रैबीज के इंजेक्शन लगाए जाते हैं. पहले 7 इंजेक्शन लगाए जाते थे, लेकिन अब 4 इंजेक्शन लगाए जाते हैं. ये इंजेक्शन जिला चिकित्सालय व शहर की अन्य सभी डिस्पेंसरियों में उपलब्ध होते हैं. बाजार में प्रति इंजेक्शन 300 रुपए कीमत होती है, जबकि सरकारी अस्पताल में ये इंजेक्शन नि:शुल्क लगाए जाते हैं.

बताया जाता है कि कुत्ते के काटने पर पहले दिन ही पहला इंजेक्शन लगाया जाता है. इसके साथ ही 3, 7 व 28 दिन में ये इंजेक्शन लगाना जरूरी होता है. शहर में आवारा कुत्तों की बढ़ती संख्या से लोग परेशान हैं. शहर के रहनेवाले तारांचन्द जमालपुरिया ने बताया कि इस संबंध में नगर परिषद को भी सूचना की गई है लेकिन अभी तक कुत्तों को पकड़ा नहीं गया. आवारा कुत्ते ने शहर के नए बस स्टैंड के पास बस का इंतजार कर रहे लोगों पर हमला किया था, तो वहीं लोहिया कॉलेज के पास यातायात पुलिसकर्मी सहित करीब दो दर्जन लोगों पर हमला कर उन्हें जख्मी कर दिया था.

स्थानीय लोग बताते हैं कि रात के समय गलियों में कुत्तों का झुंड मौजूद रहता है. ऐसे में वे राहगीर या दो पहिया वाहन चालक को घेरकर हमला कर देते हैं. वहीं दो पहिया वाहन चालक को आता देखकर उसके पीछे भागना शुरू कर देते हैं, बचने के चक्कर में संतुलन बिगड़ने से दो पहिया वाहन चालक हादसे का शिकार हो जाते हैं.

Tags: Attack of stray dogs, Churu news, Rajasthan news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें