लाइव टीवी

चूरू: रोमानिया में शरणार्थी कैम्प में फंसे तीनों युवकों की हुई स्वदेश वापसी, भावुक हुए परिजन
Churu News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: January 19, 2020, 10:23 AM IST
चूरू: रोमानिया में शरणार्थी कैम्प में फंसे तीनों युवकों की हुई स्वदेश वापसी, भावुक हुए परिजन
तीनों युवकों की घर वापसी पर परिजनों की आंखों से आंसू निकल पड़े और वे उनसे लिपट गए.

रोमानिया के शरणार्थी कैम्प (Romania's Refugee Camp) में फंसे तीनों युवकों की आखिरकार सकुशल स्वदेश (India) वापसी हो गई है. चूरू (Churu) के सुजानगढ़ कस्बे के ये तीनों युवक अपने घर लौट आए हैं. युवकों के घर लौटने पर परिजनों ने राहत (Relief) की सांस ली है.

  • Share this:
चूरू. रोमानिया के शरणार्थी कैम्प (Romania's Refugee Camp) में फंसे तीनों युवकों की आखिरकार सकुशल स्वदेश (India) वापसी हो गई है. चूरू (Churu) के सुजानगढ़ कस्बे के ये तीनों युवक अपने घर लौट आए हैं. युवकों के घर लौटने पर परिजनों ने राहत (Relief) की सांस ली है. तीनों युवक रामेंद्र गहलोत, विकास सैनी और पंकज जांगिड़ शनिवार को अपने घर पहुंचे. इस पर युवकों के रिश्तेदारों (Relatives) और परिचितों ने सुजानगढ़ कस्बे के पेट्रोल पंप तिराहे पर माल्यार्पण कर उनका भावभीना अभिनंदन (welcome) किया. इस दौरान परिजनों की आंखें नम हो गई. तीनों युवकों और उनके परिजनों ने सकुशल वापसी पर सांसद राहुल कस्वां, जिला कलक्टर, भारतीय दूतावास, सामाजिक न्याय मंत्री और मीडिया का आभार जताया.

जर्मनी भेजने के नाम पर दूसरे देश भेज दिया था
रामेंद्र गहलोत, विकास सैनी और पंकज जांगिड़ कुछ माह पहले पैसा कमाने का सपना संजोए जर्मनी के लिए रवाना हुए थे. ये तीनों युवक कस्बे के ही एक एजेंट विनोद गहलोत के मार्फत यहां से जर्मनी के लिए रवाना हुए थे. लेकिन एजेंट और अन्य लोगों की धोखाधड़ी का शिकार हो गए. एजेंट ने तीनों युवकों को जर्मनी में वर्क परमिट दिलाने के नाम पर 12-12 लाख रुपए हड़प लिए और बाद में उन्हें दूसरे देशों में धक्के खाने के लिए छोड़ दिया था.

रोमानिया में शरणार्थी कैंप में रह रहे थे

इन युवकों को डेढ़-डेढ़ लाख रुपए प्रतिमाह सैलेरी दिलाने का झांसा दिया गया था. लेकिन बाद में तीनों युवक जर्मनी की बजाय अज़रबैजान, सर्बिया, हंगरी आदि देशों में धक्के खाते रहे. हंगरी में पुलिस ने तीनों को पकड़कर रोमानिया की पुलिस के सुपुर्द कर दिया. उसके बाद से वे वहां शरणार्थी कैंप में रह रहे थे.

चूरू: रोमानिया में शरणार्थी कैम्प में फंसे तीनों युवकों की हुई स्वदेश वापसी, भावुक हुए परिजन Churu: Three youths trapped in refugee camps in Romania return home
स्वदेश वापसी पर युवक भी भावुक हो गए.


दुर्दशा बयां करते हुए कहा था कि ऐसे जीने से तो मर जाना बेहतर है 
उसके बाद पीड़ित तीनों युवकों ने रोमानिया से वीडियो बनाकर परिजनों को भेजा और अपने हालात के बारे में बताया. युवकों ने वीडियो में अपनी दुर्दशा बयां करते हुए कहा था कि ऐसे जीने से तो मर जाना बेहतर है. उन्होंने वीडियो में पीएम नरेन्द्र मोदी से अपील की थी कि उन्हें किसी भी तरह से भारत वापस लाया जाए. उसके बाद जिला प्रशासन सक्रिय हुआ और युवकों की स्वदेश वापसी के प्रयास शुरू किए. गत सप्ताह जिला कलक्टर संदेश नायक ने इस मामले में कदम उठाते हुए स्किल डवलपमेंट एण्ड लेबर डिपार्टमेंट के सलाहकार को पत्र लिखकर जरूरी कार्रवाई करने के लिए कहा था.

 

रोमानिया में फंसे राजस्थान के 3 युवकों की PM मोदी से अपील- हमें भारत वापस लाएं

चूरू: रोमानिया के शरणार्थी कैम्प में फंसे 3 युवकों की वापसी के प्रयास हुए शुरू

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चूरू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 19, 2020, 10:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर