• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • चूरू: करंट से झुलसते बच्चे के लिए देवदूत बना युवक, हादसे से ऐसे निपटें- See Video

चूरू: करंट से झुलसते बच्चे के लिए देवदूत बना युवक, हादसे से ऐसे निपटें- See Video

अमित पूनिया ने लकड़ी के फट्टे से बचाई आदिल की जान.

अमित पूनिया ने लकड़ी के फट्टे से बचाई आदिल की जान.

मोबीन खां का बेटा आदिल (6) अपने गांव के चौक से एक अन्य बच्चे के साथ सड़क से जा रहा था. तभी उसने ट्रांसफार्मर के पोल को छू लिया. बहुत तेज करंट लगने की वजह से वह झुलसने लगा. तभी फरिश्ता बनकर आए गांव के अमित पूनिया ने अपनी तत्परता से आदिल की जान बचा ली.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

चूरू. ट्रांसफॉर्मर के पोल से एक बच्चे को करंट लगने का लोमहर्षक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है. इस वीडियो में दिख रहा है कि दो बच्चे गपशप करते हुए आ रहे हैं. वे ट्रांसफॉर्मर के पोल से गुजर रहे होते हैं, तभी उनमें से एक ने ट्रांसफॉर्मर के पोल को चलते-चलते बेवजह छू लिया. इसके बाद वह हिल भी न सका, वहीं गिर पड़ा और कुछ ही सेकेंड में उसके शरीर से धुआं निकलने लगा. ठीक इसी समय एक शख्स भागता हुआ वहां आया और माजरे को समझते ही उसने पास से लकड़ी का एक पटरा उठाया और उसने बच्चे के हाथ के उस हिस्से पर प्रहार किया जो खंबे से चिपका हुआ था. देवदूत की तरह आए इस शख्स ने बच्चे को करंट वाले पोल से अलग कर उसकी जान बचा ली, हालांकि जोरदार करंट लगने की वजह से बच्चा बेहोश हो चुका था. उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

नुहंद में हुआ हादसा

यह हादसा चूरू जिले की सादुलपुर तहसील के गांव नुहंद में हुआ है. बिजली विभाग की लापरवाही के चलते 6 साल का मासूम करंट की चपेट में आकर झुलस गया. इस लोमहर्षक हादसे का वीडियो पास में लगे एक सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया. हादसे के बाद वहां चीख-पुकार मच गई थी. यह हादसा शनिवार दोपहर 12 बजकर 21 मिनट पर हुआ. इस हादसे से कुछ ही समय पहले बारिश हुई थी. बारिश के बाद ट्रांसफॉर्मर के पोल में करंट दौड़ने लगा था. बच्चे स्वभावतः चंचल होते हैं. इसी चंचलता में उसने काल बने इस पोल को छू लिया.

ऐसे हुआ हादसा, ऐसे बचाई जान – देखें वीडियो

फरिश्ता बनकर आए अमित

गांव के एडवोकेट अशोक सिंह राठौड़ ने बताया कि शनिवार दोपहर में मोबीन खां का बेटाआदिल (6) गांव के चौक से एक अन्य बच्चे के साथ गुजर रहा था. तभी उसने ट्रांसफार्मर के पोल को छू लिया. बहुत तेज करंट लगने की वजह से वह झुलसने लगा. तभी फरिश्ता बनकर आए गांव के अमित पूनिया ने तत्परता दिखाते हुए आदिल की जान बचा ली. बच्चे को गंभीर हालत में पिलानी के अस्पताल ले जाया गया, जहां पर उसका इलाज जारी है.

इस हादसे के सबक

हमें अपने बच्चों को यह ट्रेनिंग देने की जरूरत है कि मौसम कोई भी हो, विशेष कर बरसात के मौसम में कभी भी बिजली के पोल को नंगे हाथ से न छुएं.
अगर ऐसा कोई हादसा हो जाता है, तो हड़बड़ी और उत्तेजना में न आएं. करंट का शिकार हुए इनसान या जानवर को नंगे हाथ से न छुएं. लकड़ी जैसे किसी कुचालक की मदद लें.
इस वीडियो में फरिश्ता बनकर आए अमित पूनिया ने जो समझदारी और तत्परता दिखाई है, उस समझदारी और तत्परता को हमें अपना लेना चाहिए.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज