Home /News /rajasthan /

CI Vishnudutt Vishnoi Suicide Case: CBI की टीम आज पहुंचेगी चूरू, एजेंसी पहले ही दर्ज कर चुकी है FIR

CI Vishnudutt Vishnoi Suicide Case: CBI की टीम आज पहुंचेगी चूरू, एजेंसी पहले ही दर्ज कर चुकी है FIR

राजगढ़ थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने गत 23 मई की रात को कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी.

राजगढ़ थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने गत 23 मई की रात को कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी.

SP डीएम शर्मा की अगुआई में CBI की टीम विष्‍णुदत्‍त विश्‍नोई आत्‍महत्‍या कांड की छानबीन करेगी.

चूरू. राजगढ़ थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई सुसाइड मामले (CI Vishnudutt Vishnoi suicide case) में प्रदेश सरकार की सिफारिश के बाद सीबीआई (CBI) ने इस मामले को लेकर एफआईआर आरसी 04(एस)/2020 दर्ज कर ली है. अब सीबीआई की टीम मामले की जांच के लिए सोमवार को चूरू (Churu) पहुंचेगी. सीबीआई ऑफिसर के लिये जिला मुख्यालय के सर्किट हाउस में तीन कमरों सहित सादुलपुर में भी कमरे बुक कर दिए गए हैं.

इसके अलावा तीन वाहन, कंप्‍यूटर, फोटोस्टेट मशीन, लैंडलाइन टेलिफोन जैसी सुविधाएं भी सीबीआई को प्रशासन द्वारा उपलब्ध करवाये गये हैं. सूत्रों की माने तो सीबीआई टीम न केवल घटनास्थल का मौका मुआयना करेगी, बल्कि कलेक्‍टर और एसपी सहित सादुलपुर पुलिस थाना स्टाफ के बयान भी लेगी. सीबीआई एसपी डीएम शर्मा की टीम यहां करीब डेढ़ महीने तक रहकर सीआई विष्णुदत्त विश्नोई की मौत के रहस्यों की छानबीन करेगी.

Rajasthan: धार्मिक स्‍थल खोलने को लेकर गहलोत सरकार का बड़ा ऐलान, 1 जुलाई से लागू होगा नया आदेश

कमरे में फांसी पर लटका मिला था शव
गत 23 मई की रात को राजगढ़ थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी. घटना के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया था और राजनीति भी गरमा गई थी. सांसद राहुल कस्वां, उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ और बसपा नेता मनोज न्यांगली धरने पर बैठ गए थे. जनप्रतिनिधियों की ओर से सीबीआई जांच की मांग की गई थी। परिजनों ने भी शव लेने से इनकार कर दिया था। परिजनों की रिपोर्ट पर राजगढ़ थाने में 24 मई को आईपीसी की धारा 306 में मामला दर्ज किया गया था.

Rajasthan: जीत के बाद अब कांग्रेस में सत्ता और संगठन की सर्जरी की तैयारी

शव के पास मिले थे दो सुसाइड नोट
राजगढ सीआई विष्णुदत्त के शव के पास दो सुसाइड नोट मिले थे. इनमें एक पेज अपने माता-पिता के नाम तथा दुसरा पेज एसपी के नाम लिखा था. इनमें चारों तरफ प्रेशर बना देने तथा तनाव नहीं झेल पाने की बात कही गयी थी.

सीबी सीआईडी टीम ने की थी जांच
उसके बाद मामले की जांच को लेकर सीबी सीआईडी की टीम एसपी विकास शर्मा के नेतृत्व में राजगढ़ पहुंची थी. करीब एक सप्ताह के दौरान स्टाफ के बयान लिए गए थे. सीबी सीआइडी के एसपी की ओर से डीजीपी भूपेन्द्र सिंह यादव को रिपोर्ट भी पेश की गई थी. लेकिन विश्नोई समाज व आमजन इससे संतुष्ट नहीं था.

सीबीआई जांच की मांग को लेकर चलाया था अभियान
परिजनों, जनप्रतिनिधियों और आमजन की ओर से थानाधिकारी आत्महत्या मामले की सीबीआई जांच को लेकर धरने-प्रदर्शन सहित सोशल मीडिया पर अभियान चलाया गया था. जांच को लेकर प्रदेश की सरकार पर भी लगातार दबाव बना हुआ था. उसके बाद राज्य सरकार ने मामले की सीबीआई जांच की सिफारिश की गई थी.

 कई राज उजागर होंगे
मामले की जांच सीबीआई के पास जाने से आत्महत्या प्रकरण में कई तरह के खुलासे होने की बात कही जा रही है. इसके साथ ही आत्महत्या के कारणों का सही पता लगने से कई चेहरे बेनकाब होंगे. थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई का पैटर्न लॉक लगा मोबाइल सीबीआई की ओर से खोले जाने पर कई राज उजागर होंगे.

Tags: CBI investigation, Churu news, Rajasthan News Update, Suicide

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर