होम /न्यूज /राजस्थान /

चॉकलेट लेकर घर जा रही 10 साल की मासूम से की थी हैवानियत, कोर्ट ने सुनाई उम्र कैद की सजा

चॉकलेट लेकर घर जा रही 10 साल की मासूम से की थी हैवानियत, कोर्ट ने सुनाई उम्र कैद की सजा

Churur News Today: राजस्थान के चूरू में 10 साल की मासूम से रेप के आरोपी को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. आरोपी ने बच्ची को जिंदा दफन कर दिया था.

Churur News Today: राजस्थान के चूरू में 10 साल की मासूम से रेप के आरोपी को कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. आरोपी ने बच्ची को जिंदा दफन कर दिया था.

Churu 10 year old Minor girl rape case: राजस्थान (Rajasthan News) के चूरू में 10 साल की मासूम से मासूम से दरिंदगी (Churu Rajgarh 10 year old minor girl rape case) के मामले में चूरू पोक्सो कोर्ट ने बड़ा फैसला सुनाया. कोर्ट ने आरोपी अकरम को अपहरण, दुष्कर्म और हत्या के प्रयास का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. दरअसल, 3 फरवरी 2020 की रात बच्ची चॉकलेट लेकर अपने घर जा रही थी. इस दौरान आरोपी ने उसे रोका और खंडहर लेकर उसके साथ बर्बरता की. बचने के लिए बच्ची ने उसके हाथ में काट लिया. फिर आरोपी ने उस पर पत्थर से हमला कर दिया. बचने के लिए उसने मासूम को बेहोशी के हालत में पत्थरों के बीच जिंदा दफन कर फरार हो गया. बच्ची की तलाश में आए परिजनों को उनकी बेटी लहूलुहान हालत में मिली थी.

अधिक पढ़ें ...

राजस्थान. राजस्थान (Rajasthan) के चूरू (Churu) जिले के सादुलपुर में 3 फरवरी 2020 की रात को 10 साल की मासूम से दरिंदगी (Churu Rajgarh 10 year old minor girl rape case) के मामले में चूरू पोक्सो कोर्ट ने गुरुवार को अपना फैसला सुना दिया है. कोर्ट ने आरोपी अकरम को अपहरण, दुष्कर्म और हत्या के प्रयास का दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई है. 23 गवाहों के बयान और सबूतों के बाद कोर्ट ने अपना फैसला सुनाया. इस मामले में न्यायधीश ने अपनी टिप्पणी करते हुए लिखा है कि वर्तमान में नाबालिग बच्चों के साथ बढ़ते हुए अपराध को देखते हुए नाबालिक बच्चों में सुरक्षा की भावना तथा अभियुक्त द्वारा किए गए गंभीर अपराध को दंडित करने के लिए इस प्रकार के फैसले सुनाए जाना आवश्यक है.

पोक्सो कोर्ट विशिष्ट लोक अभियोजक वरुण सैनी ने बताया कि राजगढ़ में तीन फरवरी की रात आरोपी अकरम काजी ने 10 साल की मासूम को उस वक्त खण्डहर में ले जाकर हैवानियत का शिकार बनाया था, जब वह एक दुकान से टॉफी लेकर अपने घर जा रही थी. आरोपी ने बालिका को अकेला पाकर अगवा किया और खंडहर में ले जाकर  दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया.

आरोपी ने बेहोशी की हालत में बच्ची को जिंदा दफन कर दिया था

दर्द से छटपटाती बालिका ने जब आरोपी दरिंदे के हाथ पर दांतों से काटा तो आरोपी अकरम ने मासूम बालिका को जान से मारने की नियत से उसके सिर पर नुकीले पत्थर से वार कर दिया. दुष्कर्म के बाद आरोपी ने इस डर से बालिका पर हमला किया कि कहीं वह किसी को इस कुकृत्य के बारे में बता न दे. अकरम ने लहुलुहान बेहोश बालिका को मरा हुआ समझकर पत्थरों के नीचे जिंदा दफना दिया था. बाद में बालिका की तलाश करते हुए जब परिजन खंडहर में पहुंचे तो वहां बालिका लहूलुहान हालत में मिली जिसे अस्पताल ले जाया गया. बालिका को होश में आने के बाद उसने सारी घटना अपनी मां को बताई. इसके बाद 4 फरवरी को इस सम्बंध में राजगढ़ थाने में आइपीसी व पोक्सो की संगीन धाराओं में मामला दर्ज हुआ था.

ये भी पढ़ें:  राजस्थान से दिल्ली के लिए नई ट्रेन, जयपुर-जोधपुर-दौसा-अलवर-रेवाड़ी होंगे कनेक्ट, चेक करें टाइम टेबल 

घर जाकर आराम से सो गया था आरोपी
दुष्कर्म की इस वारदात को अंजाम देने के बाद 20 वर्षीय आरोपी अकरम अपने घर जाकर आराम से सो गया था. वारदात से पहले अकरम अपने 2 दोस्तों के साथ स्थानीय होटल में गया था. वापस लौटते वक्त उसके दोस्तों ने उसे रेलवे फाटक के पास छोड़ दिया था. आरोपी जब खंडहर के पास पहुंचा तो वहां 10 साल की मासूम को अकेला पाकर उसे जबरन अगवा किया और खण्डहर में ले जाकर दरिंदगी की वारदात को अंजाम दिया.

Tags: Churu news, Girl rape, Minor girl rape, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर