Home /News /rajasthan /

COVID-19: चूरू का युवक रतन स्वामी वैक्सीन टेस्टिंग के लिए अपना शरीर देने को तैयार

COVID-19: चूरू का युवक रतन स्वामी वैक्सीन टेस्टिंग के लिए अपना शरीर देने को तैयार

कोरोना वैक्सीन के परीक्षण के लिए 38 वर्षीय रतन स्वामी अपना शरीर देने को तैयार हैं

कोरोना वैक्सीन के परीक्षण के लिए 38 वर्षीय रतन स्वामी अपना शरीर देने को तैयार हैं

चूरू जिला कलक्टर संदेश नायक (Snadesh Nayak, Collector) के गिव अप समथिंग (Give Up Something) अभियान से प्रेरणा लेकर गांव घण्टेल के एक युवक ने राष्ट्रहित में कोरोना वैक्सीन परीक्षण और शोध के लिये अपने जीवंत शरीर देने की पेशकश की है.

अधिक पढ़ें ...
चूरू. भारत समेत पूरी दुनिया कोरोना महामारी (Corona Pandemic) के संक्रमण की रोकथाम के लिए योद्धाओं की तरह जंग लड़ रहे हैं. ऐसे में चूरू जिला कलक्टर संदेश नायक (Snadesh Nayak, Collector) के गिव अप समथिंग (Give Up Something) अभियान से प्रेरणा लेकर गांव घण्टेल के एक युवक ने राष्ट्रहित में कोरोना वैक्सीन परीक्षण और शोध के लिये अपने जीवंत शरीर देने की पेशकश की है. गांव घण्टेल के युवक रतन स्वामी ने जिला कलक्टर संदेश नायक और आरसीएचओ डॉ. सुनील जांदू को इस संबंध में पत्र लिखकर लोगों को बचाने के लिए खुशी से अपने शरीर देने की इच्छा जताई है.

पत्नी पिंकी ने कहा- राष्ट्रहित सर्वोपरि

38 वर्षीय पति रतन स्वामी के इस फैसले पर पत्नी पिंकी ने भी गर्व करते हुए राष्ट्रहित सर्वोपरि की बात कही है. दो बच्चों के पिता रतन ने पत्र लिखकर इच्छा जताई है कि प्रदेश के वैज्ञानिकों, डॉक्टरों को कोरोना का तोड़ निकालने के लिए मानव शरीर की आवश्यकता है तो वह इस महामारी से लोगों की जान बचाने के लिए खुद की देह देने को तैयार हैं. राष्ट्रहित की दिशा में अगर मुझे यह मौका मिलता है तो मैं खुद को भाग्यशाली समझूंगा.

'कोरोना के खात्मे के लिए बॉडी कर देंगे समर्पित'

रतन स्वामी का कहना है कि कोरोना को हराने के लिये विश्व के वैज्ञानिक वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं. ऐसे में अगर प्रदेश के वैज्ञानिक, चिकित्सक या शोधार्थी को उनका शरीर वैक्सीन परीक्षण के लिए चाहिए तो वह इसके लिये तत्पर है. इस बीमारी के खात्मे के लिए यदि वैक्सीन परीक्षण को स्वस्थ मानव शरीर की आवश्कता पड़े तो वह अपना शरीर समर्पित करने को तैयार हैं.

ग्रामीण कर रहे हैं काफी प्रशंसा

रतन स्वामी के इस कदम की परिवार के लोग ही नहीं ब्लकि ग्रामीण भी काफी सराहना कर रहे हैं. बहरहाल चूरू के छोटे से गांव घण्टेल के रतन की बडी सोच कोरोना के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे योद्धाओं की हौसलाअफजाई करने वाली कही जा सकती है.

ये भी पढ़ें: COVID-19: 4 मरीजों की छुट्टी के बाद भीलवाड़ा फिर से बना कोरोना मुक्त जिला

Lockdown: राजस्थान में 3 मई के बाद भी राहत नहीं! सीएम गहलोत ने दिए संकेत

Tags: Churu news, COVID-19 pandemic, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर