vidhan sabha election 2017

महेंद्र गोदारा हत्याकांड: चार थानों का हिस्ट्रीशीटर मदिया उर्फ मनदीप गिरफ्तार

Manoj K. Sharma | ETV Rajasthan
Updated: December 7, 2017, 6:31 PM IST
महेंद्र गोदारा हत्याकांड: चार थानों का हिस्ट्रीशीटर मदिया उर्फ मनदीप गिरफ्तार
बहुचर्चित महेन्द्र गोदारा हत्याकाण्ड मामले में चूरू पुलिस को एक ओर सफलता मिली है.
Manoj K. Sharma | ETV Rajasthan
Updated: December 7, 2017, 6:31 PM IST
राजस्थान के शेखावाटी इलाके के बहुचर्चित महेन्द्र गोदारा हत्याकाण्ड मामले में चूरू पुलिस को एक ओर सफलता मिली है. महेन्द्र गोदारा हत्याकाण्ड के मास्टरमाइन्ड गैंगस्टर अजय रिणवां की दो दिन पहले हुई गिरफ्तारी के बाद अब 4 थानों का हिस्ट्रीशीटर मदिया उर्फ मनदीप मेघवाल भी पुलिस के हत्थे चढ़ चुका है.

हिस्ट्रीशीटर मनदीप उर्फ मदिया को भानीपुरा और सदर थाना पुलिस ने जयपुर के शिप्रापथ थाने से गिरफ्तार किया है. शिप्रापथ थाने में मनदीप ने पुलिस को चकमा देने के लिए अपनी असली पहचान छुपाते हुए फर्जी नाम पत्ते दर्ज करवाए थे. लेकिन चूरू पुलिस को सूत्रों से इसकी गिरफ्तारी की खबर मिल गई थी.

बता दें कि 24 साल के इस कुख्यात अपराधी मनदीप मेघवाल पर हत्या, हत्या का प्रयास, लूट, डकैती, फिरौती, अपहरण, शराब तस्करी जैसे 22 मामले झुन्झुनूं, नवलगढ़, बिसाऊ और दुधवाखारा थानों में दर्ज हैं.

गैंगस्टर अजय रिणवां पर भी विभिन्न थानों में 19 से अधिक मामले दर्ज हैं. हिस्ट्रीशीटर महेन्द्र गोदारा हत्या मामले में दो और नामजद आरोपी रामरूवरूप और श्रवण अभी भी पुलिस गिरफ्त से दूर हैं.

गौरतलब है कि हिस्ट्रीशीटर महेन्द्र गोदारा की 17 जुलाई को देर रात चूरू के गांव कडवासर के पास गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर रामरूवरूप, मंदीप उर्फ मदिया, श्रवण बुडानिया, सरजीत, कमल रामसरा और गैंगस्टर अजय रणवां के खिलाफ आईपीसी की धारा 302, 120 बी सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज किया था.

मनदीप पर करीब दो दर्जन केस चल रहे हैं. इसकी गिरफ्तारी के बाद अन्य आरोपियों को लेकर अनुसंधान को बल मिलेगा.
केसरसिंह शेखावत, एएसपी, चूरू
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर