Churu: युवक के पेट में फंसी है पिस्टल की गोली, डॉक्टर्स ने जबरन कर दिया डिस्चार्ज !

परिजनों का आरोप है कि गोग सिंह के घाव को सील दिये जाने के बाद इलाज कर रहे डाक्टर्स ने पेट से गोली निकाले बिना ही उसे डिस्चार्ज कर दिया.
परिजनों का आरोप है कि गोग सिंह के घाव को सील दिये जाने के बाद इलाज कर रहे डाक्टर्स ने पेट से गोली निकाले बिना ही उसे डिस्चार्ज कर दिया.

चूरू जिला मुख्यालय के राजकीय भरतिया अस्पताल में फायरिंग (Firing) में घायल युवक का इलाज कर रहे चिकित्सकों पर गंभीर आरोप लगा है. युवक और उसके परिजनों का आरोप है कि पेट में गोली (Bullet) होने के बावजूद डॉक्टर्स ने इलाज पूरा किये बगैर उसे अस्पताल से जबरन डिस्चार्ज (Discharged) कर दिया.

  • Share this:
चूरू. जिला मुख्यालय के राजकीय भरतिया अस्पताल में फायरिंग (Firing) में घायल युवक का इलाज कर रहे चिकित्सकों पर गंभीर आरोप लगा है. युवक और उसके परिजनों का आरोप है कि उसके पेट में गोली (Bullet) होने के बावजूद डॉक्टर्स ने इलाज पूरा किये बगैर उसे अस्पताल से जबरन डिस्चार्ज (Discharged) कर दिया. युवक और उसके परिजन इंसाफ की गुहार लगाने के लिए कोतवाली थाने भी पहुंचे, लेकिन वहां भी पुलिस ने मामला दर्ज करने से इंकार कर दिया गया. बाद में एसपी के दखल से चिकित्सकों ने युवक को पुन: भर्ती तो कर लिया, लेकिन हालत गंभीर बताते हुए उसे जयपुर के लिए रेफर कर दिया.

27 मई की रात को भालेरी इलाके में हुई थी वारदात
जानकारी के अनुसार 27 मई की रात को जिले के भालेरी इलाके में अवैध तरीके से शराब बिक्री को लेकर हुई फायरिंग में दो युवक नरपतसिंह और गोगसिंह घायल हो गये थे. नरपतसिंह के हाथ में तथा गोग सिंह के पेट में गोली लगी थी. 27 मई की रात को दोनों को राजकीय भरतिया अस्पताल में भर्ती कर लिया गया था. इस संबंध में भालेरी पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया था. परिजनों का आरोप है कि गोग सिंह के घाव को सील दिये जाने के बाद इलाज कर रहे डाक्टर्स ने पेट से गोली निकाले बिना ही उसे डिस्चार्ज कर दिया. परिजनों ने एक्स-रे रिपोर्ट भी दिखाई है जिसमें गोली को साफ तौर पर देखा जा सकता है.

एक्स-रे गोली पाई गई
गोगसिंह ने बताया कि चिकित्सकों ने दवाई लिखकर दे दी और घर जाने के लिए कह दिया, जबकि उसके पेट में दर्द था. गांव जोड़ी के आन्नदसिंह राठौड़ ने बताया कि चिकित्सकों ने यह कहते हुए उसे जबरदस्ती डिस्चार्ज कर दिया कि वह एकदम ठीक है. उसके बाद अन्य चिकित्सकों से राय ली तो उन्होने कहा कि इसका एक्स-रे और करवा लिया जाये. उसके बाद उसका प्राइवेट में भी एक्स-रे भी करवाया गया, जिसमें पेट में गोली पाई गई है.



एसपी दखल दिया तो जयपुर रेफर किया
शुक्रवार शाम को परिजनों के ने कोतवाली थाने में परिवाद दिया. पुलिस ने परिवाद तो ले लिया, लेकिन यह कहते हुए मामला दर्ज करने से इंकार कर दिया कि यह प्रकरण भालेरी थाने में दर्ज है, लिहाजा वे ही इसमें इंटरफेर करेंगे. उसके बाद युवक के परिजनों ने एसपी से गुहार लगाई. एसपी तेजस्विनी गौतम के दखल के बाद अस्पताल प्रशासन ने रात को युवक को फिर से भर्ती कर लिया. शनिवार को सुबह दो बार एक्स-रे करवाने के बाद चिकित्सकों ने युवक की हालत गंभीर मानते हुए उसे जयपुर रेफर कर दिया. अब गोग सिंह के परिजनों ने पूरे मामले की मेडिकल बोर्ड से जांच के लिए जिला कलक्टर को ज्ञापन दिया है. वहीं दूसरी तरफ अस्पताल अधीक्षक गोगराज दानोदिया ने इस मामले की जांच की बात कही है.

Rajasthan: जानिए क्या है बारिश और टिटहरी के अंडों के बीच का गणित ?

जयपुर-जोधपुर समेत इन इलाकों में बारिश की संभावना, गर्मी से राहत की उम्‍मीद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज