• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • गैंगस्टर संपत नेहरा ने इस जेल में लिखी थी हिस्ट्रीशीटर प्रदीप स्वामी के मर्डर की स्क्रिप्ट

गैंगस्टर संपत नेहरा ने इस जेल में लिखी थी हिस्ट्रीशीटर प्रदीप स्वामी के मर्डर की स्क्रिप्ट

गैंगस्टर संपत नेहरा को चूरू के महिला पुलिस थाना में कड़ी सुरक्षा के बीच रखा गया है.

गैंगस्टर संपत नेहरा को चूरू के महिला पुलिस थाना में कड़ी सुरक्षा के बीच रखा गया है.

Pradeep Swami Murder Case Inside Story: चूरू के बहुचर्चित प्रदीप स्वामी मर्डर केस में पकड़े गये गैंगस्टर संपत नेहरा ने इसकी साजिश पंजाब की होशियारपुर जेल में रची थी. उसने 2 शॉप शूटर्स के जरिये इस हत्याकांड का अंजाम दिलाया था. उसने बदमाशों को हथियार भी जेल में बंद रहते हुये उपलब्ध कराये थे.

  • Share this:

चूरू. बीकानेर संभाग के चूरू जिले के हिस्ट्रीशीटर प्रदीप स्वामी के मर्डर (Pradeep Swami Murder Case) की स्क्रिप्ट राजस्थान के पड़ोसी राज्य पंजाब की होशियारपुर जेल (Hoshiarpur Jail) में लिखी गई थी. वर्चस्व की लड़ाई के चलते शार्प शूटरों के जरिये उसे गोलियों से छलनी करवा दिया गया था. फिल्मी लगने वाली इस कहानी को हकीकत में कुख्यात गैंगस्टर संपत नेहरा (Gangster Sampat Nehra) ने बदला था. चूरू जिले को दहला देने वाली इस गैंगवार के मुख्य आरोपी संपत नेहरा ने अब पुलिस के सामने ये राज उगले हैं. अभी पुलिस इस उलझे मामले के तार सुलझाने में लगी है. संपत नेहरा से पूछताछ में और भी कई गहरे राज सामने आने की संभावना है.

प्रदीप स्वामी मर्डर केस में गिरफ्तार किये गये कुख्यात गैगस्टर संपत नेहरा को बुधवार दोपहर वर्चुअली कोर्ट में पेश किया गया. वहां से कोर्ट ने उसे दो दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया है. संपत नेहरा से पुलिस पूछताछ में चौंकाने वाले अहम खुलासे हुए हैं. चूरू जिले के हमीरवास थाना इलाके में ढाणी मौजी में हिस्ट्रीशीटर प्रदीप स्वामी की हत्या की साजिश नेहरा ने पंजाब के होशियारपुर जेल में बनाई थी. उसने ढाणी मौजी निवासी प्रदीप स्वामी की हत्या के लिए दो शार्प शूटर को हायर किया था. उन्हें हथियार भी नेहरा के जेल में बैठे हुए ही उपलब्ध करवाये थे. अभी संपत नेहरा को चूरू के महिला पुलिस थाना में कड़ी सुरक्षा के बीच रखा गया है. सुरक्षा के लिहाज से महिला थाने में ही मेडिकल टीम बुलाकर नेहरा का मेडिकल मुआयना करवाया गया. महिला पुलिस थाने में बड़ी संख्या में पुलिस जाप्ता तैनात किया गया है.

वर्चस्व और बदले की लड़ाई बनी गैंगवार की वजह
दरअसल 5 फरवरी 2021 को संपत नेहरा के शार्प शूटरों ने ढाणी मौजी में हमीरवास पुलिस थाना के हिस्ट्रीशीटर प्रदीप स्वामी की ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या कर दी थी. इसमें दो ग्रामीण निहाल सिंह और ईश्वर नाई की भी गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई थी. इस हत्याकांड की वजह वर्चस्व व बदले की लड़ाई को माना जा रहा है.

हरियाणा से शुरू हुई थी कहानी
हमीरवास थानाधिकारी संजय पूनिया ने बताया कि हरियाणा राज्य के शातिर बदमाश केहर की ढाणी निवासी अनिल जाट का पुलिस ने 25 जून, 2015 को हरियाणा के गांव ईशरवाल में एनकाउंटर कर दिया था. अनिल दो लाख रुपये का इनामी बदमाश था. अनिल गैंग का मनाना था कि उसके एनकाउंटर में हरियाणा पुलिस के लिये चूरू के कुख्यात बदमाश अजय जैतपुरा ने मुखबीरी की थी.

यूं चला था गैंगवार का सिलसिला
अनिल के एनकाउंटर के बाद से ही अनिल जाट गिरोह की अजय जैतपुरा से रंजिश चल रही थी. अनिल जाट गिरोह के तार संपत नेहरा गैंग से जुड़े हुए थे. 17 जनवरी 2018 को संपत नेहरा गैंग के बदमाशों ने सादुलपुर कोर्ट में घुसकर अजय जैतपुरा की गोली मारकर हत्या कर दी थी. उसके बाद से ही प्रदीप स्वामी अजय जैतपुरा गैंग का संचालन कर रहा था. वह अजय जैतपुरा मर्डर केस में गवाह भी था. उसके बाद पांच फरवरी 2021 को संपत नेहरा के शार्प शूटरों ने प्रदीप स्वामी हत्या कर दी थी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज