Home /News /rajasthan /

BJP नेता राजेंद्र राठौड़ का कांग्रेस पर हमला, कहा- दिल्ली दरबार के दूतों ने CMR को राजनीतिक पर्यटक स्थल बनाया

BJP नेता राजेंद्र राठौड़ का कांग्रेस पर हमला, कहा- दिल्ली दरबार के दूतों ने CMR को राजनीतिक पर्यटक स्थल बनाया

मंत्रिमंडल पुनर्गठन न होने पर बीजेपी का वार

मंत्रिमंडल पुनर्गठन न होने पर बीजेपी का वार

Ashok Gehlot Vs Rajendra Rathore : विधानसभा के उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने जोर देकर कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का मंत्रिमंडल पुनर्गठन करने का इरादा नहीं है. इसका इंतजार कर रहे लोगों की जैकेट और शेरवानी टंगी की टंगी रह गई.

अधिक पढ़ें ...

चूरू. मंत्रिमंडल पुनर्गठन (Cabinet Expansion) के लगातार लटकने पर बीजेपी के वरिष्ठ नेता एवं विधानसभा में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि कांग्रेस नेताओं ने मुख्यमंत्री आवास (Chief Minister Residence) को राजनीतिक पर्यटक स्थल (Tourist Spot) बना दिया है. दिल्ली दरबार से दूतों का आना जारी है. फिर भी नतीजा ढाक के तीन पात ही निकल रहा है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मंत्रिमंडल विस्तार टालने के लिए नित नये बहाने बना रहे हैं. राठौड़ ने कहा कि ढाई साल का कार्यकाल पूरा कर चुकी प्रदेश की गहलोत सरकार के मंत्रिमंडल ‘पुनर्गठन’ के लगातार लटकने पर सरकार के विस्तार में खुद की जगह तलाश रहे नेताओं के सब्र का बांध टूट रहा है.

राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अजय माकन और संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा हरियाणा कांग्रेस की अध्यक्ष कुमारी शैलजा को अपने विशेष दूत के रूप में जयपुर भेजने पर विधानसभा उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ ने चुटकी लेते हुए मुख्यमंत्री आवास को अब राजनीतिक पर्यटकों की स्थली बताया.

मुख्यमंत्री 16 माह से निवास से बाहर नहीं आए
राठौड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री खुद 16 महीने से अपने निवास से बाहर नहीं आए, लेकिन दिल्ली दरबार से दूतों का लगातार आना जारी है. आधा दर्जन से ज्यादा दिल्ली दरबार के दूत अलग-अलग समय पर मंत्रिमंडल के पुनर्गठन की कवायद पर चर्चा करने के लिए राजधानी जयपुर आ चुके हैं. लेकिन नतीजा अब भी ढाक के तीन पात ही है.

अंतर्द्वंद को सरकार खत्म नहीं करता चाहती
राठौड ने तंज कसते हुए कहा कि अब 6 जिलों के अंदर पंचायत राज संस्थानों के चुनाव, उसके बाद विधानसभा का मानसून सत्र और उसके बाद फिर विधानसभा उपचुनाव हैं, लेकिन कांग्रेस का ध्यान विकास कार्यों के बजाए अपनी रस्साकशी पर ही है. गहलोत सरकार की मंशा केवल अपना कार्यकाल पूरा करना है. कांग्रेस पार्टी के भीतर चल रहे अंतर्द्वंद्व को सरकार खत्म नहीं करता चाहती.

Tags: Ashok Gahlot, BJP, Cabinet expansion, CM Ashok Gehlot, Corona 19

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर