लाइव टीवी

चूरू जिले में आठ माह से बेटियों के पक्ष में है लिंगानुपात

Manoj K. Sharma | News18 Rajasthan
Updated: March 9, 2019, 8:05 PM IST
चूरू जिले में आठ माह से बेटियों के पक्ष में है लिंगानुपात
चूरू जिले में आठ माह से लिंगानुपात बेटियों के पक्ष में है. एक हजार बेटों पर 1028 बेटियों का जन्म हुआ है. महिला दिवस पर महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से जिले में उल्लेखनीय कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया.

चूरू जिले में आठ माह से लिंगानुपात बेटियों के पक्ष में है. एक हजार बेटों पर 1028 बेटियों का जन्म हुआ है. महिला दिवस पर महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से जिले में उल्लेखनीय कार्य करने वाली महिलाओं को सम्मानित किया गया.

  • Share this:
जिले में बेटियों को बचाने के लिए सरकार की ओर से चलाए जा रहे अभियान अब रंग लाने लगे हैं. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के पीसीटीएस आंकड़ों के मुताबिक पिछले आठ माह से जिले का लिंगानुपात  बेटियों के पक्ष में रहा है. गत आंकड़ों के मुताबिक यहां एक हजार बेटों पर 1028 बेटियों ने जन्म लिया है. बेटियों के प्रति भेदभाव समाप्त कर लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से महिला दिवस पर जिले भर में विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन हुआ. अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वावधान में आयोजित जिलास्तरीय अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस एवं पोषण मेला समारोह का आयोजन जिला मुख्यालय पर हुआ.

एसडीएम श्वेता कोचर की अध्यक्षता में हुए कार्यक्रम में मुख्य अतिथि विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव राजेश दड़िया रहे. समारोह में महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से जिले में महिला एवं बाल कल्याण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाली महिला पर्यवेक्षक, साथिन, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, आशा सहयोगिनी सहित 31 महिलाओं को नकद राशि भेंटकर सम्मानित किया गया. पोषण मेले में महिलाओं को पोषण अभियान की विस्तार से जानकारी दी गई. इस दौरान 6 माह के बच्चियों का अन्नप्राशन कर धात्री महिलाओं की गोद भराई की गई.

ये भी पढ़ें-
खुशखबरी! बूंदी जिले में साल दर साल सुधर रहा है बेटियों के जन्म का आंकड़ा


लिंगानुपात में टॉप 10 जिलों में सोनीपत, उपायुक्त को PM करेंगे सम्मानित

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चूरू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 9, 2019, 8:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर