लाइव टीवी

RPSC: स्कूल लेक्चरर 2015 भर्ती मामले में आरटीआई से हुआ चौकाने वाला खुलासा
Churu News in Hindi

manoj sharma | ETV Rajasthan
Updated: September 24, 2017, 6:01 PM IST
RPSC: स्कूल लेक्चरर 2015 भर्ती मामले में आरटीआई से हुआ चौकाने वाला खुलासा
फोटो-(ईटीवी)

राजस्थान लोक सेवा आयोग (आरपीएसपी) की स्कूल लेक्चरर 2015 भर्ती मामले में चूरू के अभ्यर्थियों द्वारा मांगी गई सूचना के अधिकार अधिनियम अर्न्तगत सूचना में चौंका देना वाला खुलासा हुआ है.

  • Share this:
राजस्थान लोक सेवा आयोग (आरपीएसपी) की स्कूल लेक्चरर 2015 भर्ती मामले में चूरू के अभ्यर्थियों द्वारा मांगी गई सूचना के अधिकार अधिनियम अर्न्तगत सूचना में चौंका देना वाला खुलासा हुआ है.

13 हजार 98 पदों के लिए हुई भर्ती परीक्षा के बाद जून 2017 में हुई काउंसलिंग से ज्वॉइनिंग देने के बाद भी विभिन्न विषयों में अभी भी 1500 से अधिक पद रिक्त चल रहे हैं, लेकिन अंग्रेजी विषय को छोड़कर अन्य किसी विषय में आरपीएसपी से वेटिंग या रिर्जव लिस्ट नहीं निकाली गई है, जिससे वंचित अभ्यर्थियों में संशय की स्थिति बनी हुई है.

आरटीआई कार्यकर्ताओं का कहना है कि आरपीएससी से चाही गई सूचना के अनुसार विभिन्न विषयों के 1500 से अधिक पद स्कूल लेक्चरर के रिक्त हैं.

जुलाई 2016 में आरपीएससी द्वारा परीक्षा करवाई गई थी जिसका परिणाम नवम्बर 2016 में जारी हुआ था. जून 2017 तक राजनीति विज्ञान, इतिहास, हिन्दी, अंग्रेजी, रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, गणित, जीव विज्ञान, राजस्थानी भाषा आदि सभी विषयों की काउंसलिंग करवाकर नियुक्ति दे दी गई.



लेकिन, डोक्यूमेन्ट वेरीफिकेशन में 475 के दस्तावेज अधूरे रहे जबकि 1000 से अधिक ने नियुक्ति नहीं ली और तकरीबन 150 के करीब पद पर अभ्यर्थी रिर्वट हो गए, जिसके कारण नियुक्ति के बाद भी 1500 पद अभी भी रिक्त चल रहे हैं. वंचित अभ्यर्थी सरकार और निदेशालय से रिजर्व लिस्ट जारी करने तथा रिक्त 1500 पदों पर नियुक्ति देने की गुहार लगा रहे हैं.

चूरू के वंचित अभ्यर्थियों ने बताया कि वे इस संबंध में निदेशालय के चक्कर लगा चुके हैं और शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी तक को ज्ञापन के जरिए गुहार लगा चुके हैं. मगर, अभी तक आश्वासन के अलावा उन्हें कुछ नहीं मिला.

वंचित अभ्यर्थियों ने कहा है कि अब उनके पास कोर्ट का दरवाजा खटखटाने के अलावा कोई चारा शेष नहीं रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए चूरू से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 24, 2017, 6:01 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर