सुजानगढ़: बारिश ने गांव में मचाई तबाही, कहीं ढहे मकान तो कहीं गांव बने तालाब

सुजानगगढ़ के गोपालपुरा गांव में शनिवार रात को आई बारिश ने तांडव मचा दिया, जिसने गांव में खेत और मकानों व सड़कों को तहस-नहस कर दिया.

Manoj K. Sharma | News18 Rajasthan
Updated: August 4, 2019, 9:37 AM IST
सुजानगढ़: बारिश ने गांव में मचाई तबाही, कहीं ढहे मकान तो कहीं गांव बने तालाब
सुजानगढ़ में हुई बारिश ने गांव में मचाई तबाही
Manoj K. Sharma | News18 Rajasthan
Updated: August 4, 2019, 9:37 AM IST
सुजानगगढ़ के गोपालपुरा गांव में शनिवार रात को आई बारिश ने तांडव मचा दिया. दरअसल गोपालपुरा में गांव में डूंगर बालाजी सहित आस-पास की पहाड़ियों से बरसाती नदी निकलती है, जिसने रौद्र रूप धारण कर लिया और नदी के बहाव में गोपालपुरा रोड तो ऐसे टूटकर बह गया जैसे सूखे पत्ते टूटकर बिखरे हों. वहीं यह नदी लोगों के खेतों को बर्बाद करते हुए जब गोपालपुरा के बाणिया बास में पहुंची तो घरों की दीवारों को तोड़ते हुए गांव में प्रवेश कर गई.

रास्ता तोड़कर आई नदी ने उजाड़े कई घर

गोपालपुरा गांव में बारिश का दिखा तांडव
गोपालपुरा गांव में बारिश का दिखा तांडव


पीड़ित सवाईसिंह राईका ने बताया कि रात के तीन बजे आई बारिश से उनके घर की दीवार तीन जगहों से टूट गई और पूरे घर व बोए हुए दो बीघा खेत में पानी भर गया, उसके पास ही स्थित गोपाल गुर्जर के घर की दीवारें जब नदी ने तोड़ी तो घर में नव प्रसूता रोने लगी. प्रसूता की सास रामीदेवी ने बताया कि उसे दिलासा देने के लिए गांव जाकर दूसरे घर छोड़कर आए, लेकिन बारिश ने घर की सारी दीवारें तोड़ दी. पास में रहने वाले हनुमान गुर्जर के बड़े से घर में नदी ने प्रवेश किया और देखते ही देखते घर में प्रतीत होने लगा.

लोगों के घरों में घुसा पानी

पानी के तेज बहाव से रोड की हालत हुई खस्ता
पानी के तेज बहाव से रोड की हालत हुई खस्ता


उसके बाद नदी का तेज बहाव दीवारों तो तोड़ते हुए गांव में पहुंचा, तो सड़कों का ऐसा कटाव हुआ मानो सड़क हवा में हो. गांव की स्कूल के पीछे की बाउंड्री पोस्टर की तरह कमरों से जा चिपकी. माताजी मंदिर व पास के घर की नींव तो मानो हवा में लटक रही हो.  सरपंच सविता राठी ने बताया कि छगनलाल माली, गिरधारी प्रजापत सहित अनेकों घरों में बरसाती नदी ने तबाही मचा दी. ग्राम पंचायत ने कई घरों में जनरेटर सैट लगवाकर पानी निकलवाया.
Loading...

तेज बारिश से कई घरों की दीवारे ढहीं
तेज बारिश से कई घरों की दीवारे ढहीं


ग्रामीणों ने प्रशासन से की मुआवजे की मांग

वहीं ग्रामीणों ने प्रशासन से मुआवजे की मांग करते हुए बताया कि यदि नदी के रास्ते को सही तरीके से पक्का करके पानी का संरक्षण किया जाता तो ये तबाही न होती. फिलहाल गांव के करीब लोगों को अब डर है कि अगर और बारिश हो गई और फिर से नदी आयेगी तो वहां कहां जायेंगे और किसकी शरण लेंगे. हालांकि सूचना मिलने पर तहसीलदार अमरसिंह ने मौका मुआयना किया, लेकिन अब भी गांव में सुरक्षा के कोई प्रबंध नहीं किए गये हैं, जिससे गांव में डर का माहौल बना हुआ है.

बारिश से हुई तबाही के बाद लोगों ने प्रशासन से की मुआवजे की मांग
बारिश से हुई तबाही के बाद लोगों ने प्रशासन से की मुआवजे की मांग


यह भी पढ़ें- बीसलपुर बांध ने बढ़ाई खुशी, जल स्तर 307.07 पहुंचा मीटर, पानी की आवक जारी
First published: August 4, 2019, 9:35 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...