• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Congress Politics: पंजाब के बाद अब ऑपरेशन राजस्थान, पायलट की राहुल गांधी से मुलाकात के बाद चर्चा तेज

Congress Politics: पंजाब के बाद अब ऑपरेशन राजस्थान, पायलट की राहुल गांधी से मुलाकात के बाद चर्चा तेज

राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अजय माकन खुद कह चुके कि अगर गहलोत स्वस्थ होते तो राजस्थान में बदलाव हो चुका होता. अब ठीक होने के बाद होगा. सबकुछ तैयार है.

राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अजय माकन खुद कह चुके कि अगर गहलोत स्वस्थ होते तो राजस्थान में बदलाव हो चुका होता. अब ठीक होने के बाद होगा. सबकुछ तैयार है.

Ashok Gehlot Vs Sachin Pilot: कांग्रेस के ऑपरेशन पंजाब के बीच सचिन पायलट की राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से हुई मुलाकात के बाद अब 'ऑपरेशन राजस्थान' को लेकर हलचलें तेज हो गई हैं. पायलट की 17 सितंबर को राहुल गांधी के दिल्ली में करीब डेढ़ घंटे की मुलाकात हुई है.

  • Share this:

जयपुर. कांग्रेस में ऑपरेशन पंजाब के बाद अब ‘ऑपरेशन राजस्थान’ (Operation Rajasthan) की तैयारी शुरू हो गई. इसकी शुरुआत पूर्व पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) की राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से दो दिन पहले ही मुलाकात से हुई है. पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट की राहुल गांधी से हुई दो घंटे की मुलाकात के बाद अटकलें लगने लग गई है कि कांग्रेस अब राजस्थान में अब क्या करने जा रही है ? पायलट की राहुल गांधी से ये मुलाकात 17 सितंबर को दिल्ली में हुई थी. पायलट की राहुल गांधी से ये मुलाकात काफी अहम है. इसके पीछे बड़ी वजह यह है कि पायलट की बगावत के बाद से पिछले एक साल में राहुल गांधी सचिन पायलट से पहली दफा मिले हैं. मुलाकात करीब डेढ़ घंटे तक चली.

कांग्रेस के सूत्रों का दावा है कि इस दौरान तीन मुद्दों पर बात हुई. पहली राजस्थान में संगठन में बदलाव के बारे में. दूसरी गहलोत मंत्रिमंडल में पूर्ण बदलाव के संबंध में और तीसरी सचिन पायलट की खुद की भूमिका को लेकर. पायलट समर्थकों का दावा है कि पायलट को राजस्थान में कांग्रेस का प्रदेश अध्यक्ष बनाने को लेकर भी चर्चा हुई है. सूत्रों का कहना है कि गहलोत मंत्रिमंडल में बड़ा फेरबदल और संगठन में कुछ बदलाव अगले महीने किया जा सकता है. पार्टी हाईकमान गहलोत मंत्रिमंडल के सभी मंत्रियों की छुट्टी कर नया मंत्रिमंडल चाहता है. इस बदलाव के लिए पार्टी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के स्वास्थ्य में सुधार और उनके दफ्तर से कामकाज शुरू करने का इंतजार कर रही है.

प्रमोद कृष्णन के ट्वीट ने बढ़ाई हलचल
राजस्थान कांग्रेस के प्रभारी अजय माकन खुद कह चुके कि अगर गहलोत स्वस्थ होते तो राजस्थान में बदलाव हो चुका होता. अब ठीक होने के बाद होगा. सबकुछ तैयार है क्या करना है. इस बीच प्रियंका गांधी के नजदीकी आचार्य प्रमोद कृष्णन के एक ट्वीट ने भी आज हलचल मचा दी है. इसमें लिखा है कि पंजाब की हवाएं राजस्थान और छतीसगढ़ में भी मौसम बिगाड़ सकती हैं. हालांकि एआईसीसी के सूत्रों का दावा है कि राजस्थान में पंजाब जैसे किसी बड़े बदलाव के लिए कांग्रेस अगले साल मार्च तक इंतजार करने का मानस बना रही है. तब तक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की सरकार रिपीट कराने की क्षमता को परखना चाहती है. लेकिन संगठन में बदलाव और मंत्रिमंडल फेबदल में देर नहीं चाहता है.

सरकार संगठन में जगह मिलना तय माना जा रहा है
राजस्थान में सचिन पायलट समर्थकों को सरकार संगठन में जगह मिलना तय माना जा रहा है. लेकिन सचिन पायलट की भूमिका को लेकर मंथन चल रहा है. पार्टी हाईकमान ये देख रहा है कि पायलट को राजस्थान में अभी मैदान में उतारा जाए या एक साल इंतजार किया जाए. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के ओएसडी लोकेश शर्मा के ट्वीट ने भी उनकी मुश्किलें बढ़ाई हैं. कैप्टन अमरिंदर सिंह के इस्तीफे के वक्त लोकेश शर्मा ने पार्टी हाईकमान पर बिना नाम लिए शायराना अंदाज में तंज कसा था कि कैसे कैप्टन को मजबूर किया जा रहा है. बाड़ ही खेत को खा रही है..तो फिर फसल कैसे बचेगी. बाड़ शब्द पार्टी हाईकमान के लिए माना गया. हालांकि गहलोत ने डैमेज कंट्रोल करते हुए लोकेश शर्मा से इस्तीफा ले लिया था. लेकिन अभी यह साफ नहीं हुआ है कि इस्तीफा मंजूर किया या नहीं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज