CM बनने के लिए सचिन पायलट मार्च से अब तक तीन बार कर चुके हैं बगावत- रिपोर्ट
Jaipur News in Hindi

CM बनने के लिए सचिन पायलट मार्च से अब तक तीन बार कर चुके हैं बगावत- रिपोर्ट
सचिन पायलट की बगावत.

सूत्रों का कहना है कि शायद सचिन पायलट (Sachin Pilot) बीजेपी में शामिल नहीं होंगे लेकिन उनकी योजना पार्टी के समर्थन से मुख्‍यमंत्री बनने की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 13, 2020, 11:43 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. राजस्‍थान सरकार (Rajasthan) में इस समय सियासी संग्राम चरम पर है. सचिन पायलट (Sachin Pilot) एक बार फिर मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार के खिलाफ बागी तेवर दिखा रहे हैं. चर्चा यहां तक है कि वह कांग्रेस (Congress) का हाथ छोड़कर बीजेपी (BJP) में शामिल हो सकते हैं. इस बीच मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कांग्रेस के सूत्रों ने जानकारी दी है कि मार्च से लेकर अब तक सचिन पायलट की ओर ये तीसरी बगावत है. सूत्रों का कहना है कि शायद वह बीजेपी में शामिल नहीं होंगे लेकिन उनकी योजना पार्टी के समर्थन से मुख्‍यमंत्री बनने की है. सूत्रों ये भी कहा कि बागी पायलट मुख्‍यमंत्री बनने के लिए बीजेपी से संपर्क में हैं.

एनडीटीवी के अनुसार कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि सचिन पायलट केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार में कोई मंत्रीपद भी पा सकते हैं. कांग्रेस का मानना है कि राजस्‍थान के उप मुख्‍यमंत्री और प्रदेश पार्टी अध्‍यक्ष सचिन पायलट के पास करीब 12 विधायक हैं. जबकि पायलट करीब 30 विधायकों की बात कह रहे हैं. सूत्रों का कहना है पार्टी के शीर्ष नेता सचिन पायलट के संपर्क में हैं और उन्‍हें बगावत वापस लेने के लिए मना रहे हैं. कांग्रेस का दरवाजा उनके लिए खुला हुआ है. हफ्ते भर पहले कांग्रेस की अंतरिम अध्‍यक्ष सोनिया गांधी के एक प्रतिनिधि ने भी सचिन पायलट से मुलाकात की थी.

सूत्रों का कहना है कि सचिन पायलट की कुछ शिकायतें थीं, जिनको कांग्रेस ने सुना है. सचिन पायलट के समर्थक विधायकों को राजस्‍थान कैबिनेट में पसंदीदा पद दिया जा सकता है लेकिन मुख्‍यमंत्री पद को लेकर कुछ स्‍पष्‍ट नहीं है.



राजस्थान का सियासी संकट अब रोचक मोड़ ले रहा है. पहले सूत्रों ने दावा किया था सचिन पायलट के पास कई विधायकों का समर्थन है और वह बीजेपी नेताओं के संपर्क में हैं. अब सचिन पायलट ने बीजेपी में शामिल होने की तमाम अटकलों पर प्रतिक्रिया दी है. सूत्रों के मुताबिक, पायलट ने साफ कर दिया कि वह बीजेपी में शामिल नहीं होंगे. हालांकि, ऐसी चर्चा है कि पायलट कांग्रेस छोड़कर अलग पार्टी बना सकते हैं, जिसका नाम ‘प्रगतिशील कांग्रेस’ हो सकता है.

राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस में अंदरुनी कलह के बीच उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने रविवार को पार्टी से बगावत के संकेत देते हुए दावा किया कि उनके साथ 30 से अधिक विधायक हैं और अशोक गहलोत सरकार अल्पमत में आ चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading