COVID-19: जल्द सुधरेंगे रामगंज में हालात, नई स्ट्रेटेजी से जुटा चिकित्सा विभाग
Jaipur News in Hindi

COVID-19: जल्द सुधरेंगे रामगंज में हालात, नई स्ट्रेटेजी से जुटा चिकित्सा विभाग
दुनिया के कई देशों में फिलहाल अलग-अलग ड्रग्स पर शोध किए जा रहे हैं

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग (Medical and Health Department) अब रामगंज में कलस्टर सैंपलिंग (Cluster Sampling) शुरू करने जा रहे है. पूरे रामगंज में कोरोना (Corona) को नियंत्रित करने के लिए विभाग ने नई स्ट्रेटेजी (new strategy) से काम करना शुरू कर दिया है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जयपुर. प्रदेश में कोरोना (Corona) का एपीसेंटर (Epicenter) बनते जा रहे रामगंज (Ramganj) के लिए चिकित्सा विभाग (Medical Department) अब नई स्ट्रेटेजी (New Strategy) लेकर आया है. इससे पहले कहा जा रहा था कि भीलवाड़ा प्रदेश में कोरोना का एपीसेंटर बनने जा रहा है. लेकिन सरकार ने ऐसा होने नहीं दिया और आज भीलवाड़ा देश ही नहीं पूरी दुनिया में एक मिसाल बनकर उभरा है. देश और दुनिया के विशेषज्ञ भीलवाड़ा मॉडल (Bhilwara Model) को अपनाने की बात कह रहे है.

रामगंज के लिए नई स्ट्रेटेजी
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बताया कि हम रामगंज में कलस्टर सैंपलिंग शुरू करने जा रहे है. पूरे रामगंज में कोरोना को नियंत्रित करने के लिए नई स्ट्रेटेजी से काम करना शुरू कर दिया है. वहां पहले से ज्यादा सख्ती बरती जा रही है. मुख्य रास्तों के साथ ही प्रमुख गलियों को भी ब्लॉक किया गया है. पूरे क्षेत्र में सुपर कर्फ्यू लगाया गया है. यहां लोगों के घर छोटे हैं, लिहाजा कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आने वाले लोगों को दूसरे स्‍थानों में क्वारेंटाइन किया जा रहा है. वहीं, क्षेत्र से ज्यादा से ज्यादा सैम्पल लिए जा रहे है. गुरुवार को अकेले रामगंज से करीब 600 से ज्यादा सैंपल लिए गए.

क्या है कलस्टर बेस सैम्पलिंग



WHO की गाइडलाइन के अनुसार, जिस क्षेत्र में कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़ने लगती है. वहां इस तकनीक का इस्तेमाल किया जाता है. इस पद्धति में पूरे क्षेत्र को 30 कलस्टर में बांटा जाता है. वहीं हर कलस्टर में 30-30 सैंपल लिए जाते है. यह सैंपल किसी भी व्यक्ति के हो सकते है. इसमें जरूरी नहीं है कि व्यक्ति को खांसी या जुखाम हो. इसके माध्यम से यह पता चल जाता है कि क्षेत्र में किस हद तक वायरस फैल चुका है.



प्रदेश में 463 हुई पॉजिटिव की संख्या
प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की संख्या 463 पहुंच गई है. प्रदेश में गुरुवार को कुल 80 नए पॉजिटिव सामने आए थे. जयपुर में 168 और जोधपुर में 76 पॉजिटिव केस मिले हैं, इसमें जोधपुर में ईरान से आए 42 लोग भी शामिल है. इसके अलावा, झुन्झुनूं में 31, भीलवाड़ा में 28, टोंक में 27, बीकानेर में 20, जैसलमेर में 19, कोटा में 17, बांसवाड़ा में 12, चूरू में 11, झालावाड़ में 9, भरतपुर में 8, अजमेर, डूंगरपुर और अलवर में 5-5, दौसा में 6, उदयपुर में 4, कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं. इसके आलवा, करौली, पाली और प्रतापगढ़ में 2-2 पॉजिटिव एवं बाडमेर, धौलपुर, नागौर, सीकर में 1-1 पॉजिटिव मिले हैं.

यह भी पढ़ें:
COVID-19: वन कर्मियों ने कोरोना से बचाव के लिए सरकार से मांगे मास्क, सेनिटाइजर और बीमा
गरीबों का निवाला छीनने से बाज नहीं आ रहे हैं राशन डीलर्स, कार्रवाई के नाम पर हो रही है खानापूर्ति
First published: April 10, 2020, 2:54 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading