COVID-19 : राजस्‍थान रोडवेज पर लगा ‘मोक्ष रथ’ सवारों की जिंदगी खतरे में डालने का आरोप
Kota News in Hindi

COVID-19 : राजस्‍थान रोडवेज पर लगा ‘मोक्ष रथ’ सवारों की जिंदगी खतरे में डालने का आरोप
यात्रियों ने कहा, सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान नहीं रखा जा रहा.

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान जिन परिवारों ने अपनों को खोया है, उनकी अस्थियां विर्सजन के लिए मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने मोक्ष कलश रथ सेवा (Moksha Kalash Rath Seva) शुरू करवाई है. नाराज यात्रियों ने कहा कि जब केंद्र और राज्य सरकार रोजाना सोशल डिस्‍टेंसिंग को लेकर गाइडलाइन जारी कर रही है, ऐसे में बस की सभी सीटों पर यात्रियों को बैठाकर भेजा जा रहा है.

  • Share this:
कोटा. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान जिन परिवारों ने अपनों को खोया है, उनकी अस्थियां विर्सजन की प्रक्रिया हो सके, इसके लिए मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) ने मोक्ष कलश रथ बस सेवा (Moksha Kalash Rath Bas Yatra) शुरू करवाई है. लेकिन, अब इस बस सेवा में सोशल डिस्टेसिंग (Social Distancing) की धज्जियां उड़ रही हैं. कुछ ऐसा ही आज राजस्‍थान (Rajasthan) के कोटा (Kota) में देखने को मिला.

दरअसल, राजस्‍थान सरकार की इस योजना के तहत, आज दो बसों को अस्थि कलश लेकर कोटा से रवाना किया जाना था. स्‍थानीय लोगों का आरोप है कि तय समय ये दोनों बसें तो पहुंच गईं और रोडवेज कर्मियों ने बस की हर सीट पर लोगों को बैठाना शुरू कर दिया. जिसके बाद, नाराज लोगों ने रोडवेज कर्मियों का विरोध करना शुरू कर दिया और कुछ यात्रियों ने अपनी हरिद्वार यात्रा को स्‍वत: रद्द कर दी.

यात्रियों ने किया विरोध



नाराज यात्रियों ने कहा कि जब केंद्र और राज्य सरकार रोजाना सोशल डिस्‍टेंसिंग को लेकर गाइडलाइन जारी कर रही है, ऐसे में बस की सभी सीटों पर यात्रियों को बैठाकर भेजा जा रहा है. उन्‍होंने कहा कि कोटा से हरिद्वार का करीब 18 घंटे का सफर है. बिना सावधानी यह सफर यात्रियों की जान के लिए खतरनाक बन सकता है. उन्‍होंने कहा कि कोरोना वायरस (Coronavirus) से सुरक्षा के मद्देनजर राजस्‍थान रोडवेज की तरफ से एक भी एहतियाती कदम नहीं उठाए गए हैं.
रोडवेज प्रशासन दिया आदेश का हवाला
कोटा रोडवेज डिपो के महाप्रबंधकर कुलदीप शर्मा का कहना है कि रोडवेज सीएमडी की तरफ से बस की सभी सीटों पर यात्रियों को बैठाने का नया आदेश आया है. उसी आदेश के तहत, पालन मोक्ष कलश रथ को रवाना किया गया है. इससे पूर्व जो बसें हरिद्वार गई थीं, उनमें 30 यात्रियों को ही भेजा गया था. लेकिन, अब नओ आदेश के आने के बाद,  हरिद्वार जा रही एक बस में 46 यात्रियों को बैठाया जा रहा है.

बस स्‍टैंड पर की जा रही है स्‍क्रीनिंग
मोक्ष कलश रथ के रवाना होने से पूर्व यात्रियों की जांच की जा रही है. महाप्रबधंक कुलदीप शर्मा के अनुसार, यात्रियों को बस के रवाना होने से दो घंटे पूर्व की रिपोर्टिंग टाइम दी जाती जाता है. इस दौरान बसों को सैनेटाइज किया जाता है. यात्रियों की थर्मल स्‍क्री‍निंग की जाती है और उसके बाद ही बसों में यात्रियों को बैठाया जाता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading