COVID-19: गरीब के राशन पर राजनीति, श्रेय लेने के चक्कर में भिड़े कार्यकर्ता, कई जख्‍मी
Jaipur News in Hindi

COVID-19: गरीब के राशन पर राजनीति, श्रेय लेने के चक्कर में भिड़े कार्यकर्ता, कई जख्‍मी
बीजेपी और कांग्रेस के नेताओं के झगड़े में घायल हुए कार्यकर्ता.

राजनीति चमकाने के चक्कर में भाजपा (BJP) और कांग्रेस (Congress) के नेताओं ने अब गरीब के सरकारी राशन (Ration) पर भी राजनीति शुरू कर दी है.

  • Share this:
जयपुर. एक तरफ जहां कोरोना महामारी (Corona Epidemic) के चलते लोग निस्वार्थ भाव से जरूरतमंद की सेवा में लगे है, वहीं दूसरी ओर अपनी राजनीति (Politics) चमकाने के चक्कर में भाजपा (BJP) और कांग्रेस (Congress) के नेताओं ने अब गरीब के सरकारी राशन पर भी राजनीति शुरू कर दी है. राशन बांटने का श्रेय लेने के चक्कर में शुक्रवार को कांग्रेस और बीजेपी के कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. दरअसल, सांगानेर (Sanganer) विधानसभा क्षेत्र में सरकारी राशन वितरण (Ration Distribution) को लेकर कांग्रेस और बीजेपी के कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई.

मामला इतना बढ़ गया कि नौबत मारपीट तक पहुंच गई. इस घटना में दोनों तरफ के कार्यकर्ता गंभीर रूप से घायल हो गए. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आपसी समझाइश से मामला शांत करवाया और घायलों को अस्पताल पहुंचाया. घटना की सूचना मिलने पर स्थानीय विधायक अशोक लाहोटी और सांगानेर विधानसभा से कांग्रेस उम्मीदवार रह चुके पुष्पेन्द्र भारद्वाज कार्यकर्ताओं के साथ शिप्रापथ थाने पहुंच गए. सैकड़ों की संख्या में थाने पर पहुंचे कार्यकर्ताओं ने जमकर सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उडाई. किसी ने भी आपस में सोशल डिस्टेंस का ख्याल नहीं रखा.

एक-दूसरे पर लगाया राजनीति करने का आरोप
थाने पर पहुंचे नेताओं ने जमकर एक-दूसरे पर राजनीति करने का आरोप लगाया. विधायक अशोक लाहोटी ने कहा कि प्रशासन सरकार के दवाब में राशन वितरण कर रहा है. गरीब की जगह कांग्रेसियों के घर पर राशन बंट रहा है. भाजपा के कार्यकर्ताओं ने जब इसका विरोध किया तो असामाजिक तत्वों के जरिए मारपीट करवाई गई. उन्होंने कहा कि मैने पहले ही जिला प्रशासन को अवगत करवा दिया था कि राशन वितरण में गड़बड़ी हो रही है. लेकिन इस ओर ध्यान नहीं दिया गया. उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार राशन वितरण का भी कांग्रेसीकरण कर रही है.
वहीं कांग्रेस नेता पुष्पेन्द्र भारद्वाज ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा के नेता राशन वितरण का श्रेय लेना चाहते है. स्थानीय भाजपा पार्षद मुकेश लखयानी गरीबों की जगह जिनके दो-दो मंजिल के मकान है, उनके घर राशन बंटवाना चाह रहे थे. हमारे कार्यकर्ताओं ने मना किया तो उन पर हमला कर दिया. भारद्वाद ने कहा कि स्थानीय विधायक और पार्षद ने आज तक एक रुपए की भी गरीबों की मदद नहीं की है. लेकिन वो सरकारी राशन पर राजनीति करना चाहते है.



गुलाबी नगरी की साख पर लगा बट्टा
इस पूरी घटना के बाद चर्चा है कि एक तरफ जहां प्रदेश का भीलवाड़ा शहर अपनी कार्यशैली के चलते देश औऱ विदेश में अपनी अलग पहचान बना चुका है. वहीं दूसरी ओर राजधानी में हुए इस घटनाक्रम ने प्रदेश के नाम पर बट्टा लगा दिया है. क्योंकि देश के किसी कोने से अब तक संभवत इस तरह की घटना सामने नहीं आई है.

यह भी पढ़ें: 
COVID-19: कोरोना वॉरियर्स की ड्यूटी पर मौत होने पर आश्रितों को मिलेंगे 50 लाख, सीएम गहलोत ने की घोषणा
जिस भीलवाड़ा मॉडल की हो रही तारीफ, वहां की नर्स ने बताया किस तरह लड़ी कोरोना से
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading