होम /न्यूज /राजस्थान /

Rajasthan : चर्चा में है विधायक ओम प्रकाश का 'बजरंगी प्रेम' - देखें Video

Rajasthan : चर्चा में है विधायक ओम प्रकाश का 'बजरंगी प्रेम' - देखें Video

इस वानर की जान बचाने के बाद एमएलए ने उसे बजरंगी नाम दिया है.

इस वानर की जान बचाने के बाद एमएलए ने उसे बजरंगी नाम दिया है.

आपको बता दें कि बजरंगी एक वानर का नाम है. यह नाम भी निर्दलीय विधायक ओम प्रकाश हुडला ने ही रखा है. बजरंगी को लेकर विधायक का प्रेम ऐसा है कि वह परिवार का सदस्य बन गया है.

    जयपुर. इनसान और जानवरों के बीच का आत्मीय रिश्ता कोई नई बात नहीं. बॉलीवुड की कई फिल्में भी इस पर बन चुकी हैं. ऐसे ही एक आत्मीय रिश्ते की वजह से इस बार निर्दलीय विधायक ओम प्रकाश हुडला चर्चा में हैं. वैसे आपको बता दें कि अपने सियासी अंदाज के लिए भी यह विशेष रूप से पहचाने जाते हैं, पर इन दिनों उनका विशेष अंदाज चर्चा में हैं. इस अंदाज के कई वीडियो अब तक वायरल हो चुके हैं.

    राजस्थान के दौसा जिले की महुआ सीट से विधायक हैं ओम प्रकाश हुडला. इस बार हुडला बजरंगी के प्यार में डूबे हुए हैं. बजरंगी को लेकर उनकी दीवानगी का आलम यह है कि अब तो खाना, पीना, सोना सबकुछ बजरंगी के साथ ही होता है. आपको बता दें कि बजरंगी एक वानर का नाम है. यह नाम भी विधायक हुडला ने ही रखा है. बजरंगी को लेकर विधायक का प्रेम ऐसा है कि वह परिवार का सदस्य बन गया है. इस बजरंगी का ज्यादातर समय विधायक हुडला जी के साथ ही बीतता है. एमएलए साहब भी उसकी सेवा में दिन रात जुटे रहते हैं.



    हुडला ने ही जान बचाई थी बजरंगी की

    दरअसल, इस वानर में विधायक हुडला के प्रति यह अटूट प्रेम इसलिए पैदा हुआ कि विधायक हुडला ने ही उसकी जान बचाई है. मामला अब कुछ दिन पुराना हो चला. एक रोज विधायक हुडला को जानकारी मिली कि एक वानर बिजली के तारों से फंस कर बुरी तरह जख्मी हो गया है. इस घायल वानर को कुछ लोग एमएलए हुडला के निवास रामकुटी पर लेकर आए. विधायक हुडला ने यहीं पर पशुपालन विभाग के चिकित्सा अधिकारियों एवं कर्मचारियों को बुलवाया. चिकित्सकों की सलाह पर वानर की सर्जरी की गई. चिकित्सकों ने वानर की जान बचाने के लिए करंट से जख्मी हुए उसके हाथ को काट कर अलग कर दिया. कुछ दिनों की देखभाल के बाद वानर चंगा हो गया. तब विधायक हुडला ने इस वानर को बजरंगी नाम दिया और उसकी देखभाल के लिए एक कर्मचारी की नियुक्ति भी कर दी. लेकिन हुडला इतने से संतुष्ट नहीं हुए और खुद भी उसकी सेवा में जुट गए.

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर