अस्पताल में बेटा होने पर 1200 और बेटी पर वसूलते थे 700 रुपए, देखें स्वास्थ्य सचिव ने किया क्या

दौसा के रामकरण जोशी जिला अस्पताल में प्रसव के लिए आने वाली महिलाओं से बेटा होने पर 1200 और बेटी पर 700 रुपए वसूले जाते थे. विशिष्ट शासन सचिव स्वास्थ्य समित शर्मा जांच में शिकायत को सही पाया और संबंधित कर्मचारियों को निलंबित करने के निर्देश दिए.

Ashish Sharma, Dausa | News18 Rajasthan
Updated: June 4, 2019, 3:07 PM IST
Ashish Sharma, Dausa
Ashish Sharma, Dausa | News18 Rajasthan
Updated: June 4, 2019, 3:07 PM IST
दौसा के रामकरण जोशी जिला अस्पताल में प्रसव के लिए आने वाली महिलाओं को पैसे देने पड़ते हैं. इसमें भी बेटा और बेटी होने पर पैसे के अलग-अलग रेट बंधे हैं. लड़का होने पर 1200 और लड़की होने पर 700 रुपए वसूले जाते थे. इसका खुलासा मंगलवार को तब हुआ जब स्वास्थ्य विभाग के विशिष्ट शासन सचिव समित शर्मा दौसा जिला अस्पताल में औचक निरीक्षण पर पहुंचे.

समय पर एक भी डॉक्टर नहीं पहुंचा अस्पताल 

स्वास्थ्य विभाग के विशेष शासन सचिव और एनएचएम के एमडी समित शर्मा मंगलवार को दौसा जिला अस्पताल पहुंचे. सुबह 8 बजे जैसे ही समित शर्मा ने अस्पताल में प्रवेश किया तो 8 बजकर 6 मिनट पर अस्पताल का उपस्थिति रजिस्टर अपने कब्जे में ले लिया. इस दौरान जिला अस्पताल में एक भी चिकित्सक मौजूद नहीं था. करीब साढ़े आठ बजे पहला चिकित्सक जिला अस्पताल पहुंचा. समय से आधे घंटे बाद चिकित्सकों ने अस्पताल में आना शुरू किया.

मरीजों के पास मिलीं बाहर की दवाएं

इसके बाद समित शर्मा ने वार्डो का निरीक्षण किया तो मरीजों के बिस्तर पर बाहर की दवाएं मिली. इस पर समित शर्मा ने चिकित्सकों को फटकार लगाई और दवाओं को बाहर लिखने का कारण पूछा लेकिन चिकित्सक निरुत्तर हो गए. इस दौरान यह भी सामने आया कि बाहर की दवाएं अनुपयोगी थीं और कीमत भी अधिक थी. ऐसे में कमीशन के खेल के चक्कर में चिकित्सकों ने यह दवाई लिखी थी. मरीजों के पास बाहर की जांच भी मिली.

प्रसव के दौरान महिलाओं से पैसे वसूलने की हुई पुष्टि

स्वास्थ्य विभाग के विशिष्ट शासन सचिव समित शर्मा ने जब मातृ एवं शिशु चिकित्सा यूनिट का भी निरीक्षण किया तो अस्पताल की पोल खुल गई. यहां पर लेबर रूम में अवैध वसूली का मामला सामने आया. जब समित शर्मा ने प्रसूताओं से बात की तो सामने आया कि प्रसव के दौरान महिलाओं से पैसे वसूले जाते हैं. इस पर समित शर्मा ने अपने मोबाइल से महिलाओं के बयान भी रिकॉर्ड किए और तत्काल दोषी कर्मचारियों को सस्पेंड करने के निर्देश दिए. समित शर्मा ने जिन कर्मचारियों ने प्रसूताओं से पैसे लिए हैं उन कर्मचारियों को पैसे लौटाने के भी निर्देश दिए.
ये भी पढ़ें- जयपुर के डॉक्टर ने अस्पताल में पलंग पर चढ़कर मरीज को पीटा, VIDEO वायरल

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...