विधानसभा चुनाव 2018- दौसा जिले में 46 में से 35 प्रत्याशियों की जमानत हुई जब्त
Dausa News in Hindi

विधानसभा चुनाव 2018- दौसा जिले में 46 में से 35 प्रत्याशियों की जमानत हुई जब्त
फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

विधानसभा चुनाव-2018 में दौसा जिले की पांच विधानसभा सीटों पर 46 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे, लेकिन इनमें से 35 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई. केवल 11 प्रत्याशी ही अपनी जमानत बचाने में कामयाब रहे.

  • Share this:
विधानसभा चुनाव-2018 में दौसा जिले की पांच विधानसभा सीटों पर 46 प्रत्याशी चुनावी मैदान में थे, लेकिन इनमें से 35 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई. केवल 11 प्रत्याशी ही अपनी जमानत बचाने में कामयाब रहे. महवा विधानसभा क्षेत्र से तो सत्ता में आ रही कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी अजय बोहरा की ही जमानत जब्त हो गई.

दौसा सीट से चुनाव लड़ रहे पूर्व विधायक नंदलाल बंशीवाल व सिकराय सीट से चुनाव लड़ रही पूर्व विधायक गीता वर्मा और महुआ सीट से चुनाव लड़ने वाले पूर्व जिला प्रमुख अजित सिंह की भी जमानत जब्त हो गई. बांदीकुई विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ने वाले 16 प्रत्याशियों में से 13 प्रत्याशियों की जमानत जब्त हो गई. यहां केवल बीजेपी, कांग्रेस और बसपा के प्रत्याशी ही अपनी जमानत बचा सके. वहीं दौसा विधानसभा क्षेत्र में 9 प्रत्याशियों में से केवल बीजेपी और कांग्रेस के अलावा सभी प्रत्याशियों की जमानत हो गई.

यह भी पढ़ें:  मुख्यमंत्री की रेस में सबसे आगे क्यों हैं अशोक गहलोत? पढ़ें, वो सबकुछ जो आप जानना चाहते हैं 



सचिन पायलट बनेंगे मुख्यमंत्री! यहां पढ़ें- यूपी में जन्मे पायलट की राजस्थान में सियासी उड़ान
सिकराय विधानसभा सीट की बात करें तो यहां चुनाव लड़ रहे चार प्रत्याशियों में से बीजेपी और कांग्रेस प्रत्याशियों की जमानत बची है. इसी तरह लालसोट विधानसभा सीट पर कांग्रेस व बीजेपी के अलावा अन्य तीन प्रत्याशियों की जमानत हो गई महुवा विधानसभा सीट पर चुनाव लड़ रहे 12 प्रत्याशियों में से केवल निर्दलीय प्रत्याशी ओमप्रकाश हुड़ला और बीजेपी के राजेंद्र मीणा को छोड़कर 10 प्रत्याशियों की जमानत हो गई. विधानसभा चुनाव में जमानत बचाने के लिए कुल मतदान में से 1/6 हिस्से के मत लाना आवश्यक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज