लाइव टीवी

कलेक्‍टर ने नहीं लिया ज्ञापन तो पहुंच गए मंदिर, बोले- हे भगवान, बिजली की दरें कम करा दो!
Dausa News in Hindi

Ashish Sharma | News18 Rajasthan
Updated: February 12, 2020, 7:31 PM IST
कलेक्‍टर ने नहीं लिया ज्ञापन तो पहुंच गए मंदिर, बोले- हे भगवान, बिजली की दरें कम करा दो!
भारतीय जनता युवा मोर्चा ने भगवान को सौंपा ज्ञापन.

राजस्‍थान (Rajasthan) में बिजली की दरें बढ़ाने के विरोध में आज भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता दौसा कलेक्ट्रेट पहुंचे, जहां उन्‍हें जिला कलेक्टर को राज्यपाल के नाम ज्ञापन देना था. कई घंटे तक इंतजार करने के बाद उनका ज्ञापन कलेक्‍टर ने नहीं लिया तो कलक्ट्रेट स्थित गणेश मंदिर में ही उन्‍होंने अपनी पत्र रख दिया.

  • Share this:
दौसा. हे भगवान, बिजली की दरें कम करा दो! अब आप सोच रहे होंगे कि भगवान बिजली की दर कैसे कम कराएंगे. दरअसल, राजस्‍थान (Rajasthan) में बिजली की दरें (Electricity Bill) बढ़ाने के विरोध में आज भाजपा युवा मोर्चा के कार्यकर्ता दौसा कलेक्ट्रेट पहुंचे थे और जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौंपने का प्रस्तावित कार्यक्रम था. हालांकि ज्ञापन देने के लिए कलेक्ट्रेट में भाजयुमो के कार्यकर्ता कई घंटे तक इंतजार करते रहे. इस दौरान कलेक्टर मीटिंग में बिजी रहे और जब चेंबर में थे तो भाजयुमो के कार्यकर्ताओं को ज्ञापन के लिए काफी इंतजार के बाद भी बुलाया नहीं गया.

फिर लिया भगवान का सहारा...
कई घंटे के इंतजार से परेशान भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने भगवान का सहारा लेना ठीक समझा और कलेक्ट्रेट में लगी भगवान गणेश की मूर्ति के सामने ज्ञापन रख दिया. उन्‍होंने भगवान को ही ज्ञापन देते हुए कहा कि हे भगवान, बिजली की दरें कम करवा दो! इस दौरान भाजयुमो कार्यकर्ताओं का कहना था कि जिस तरह सरकार जन विरोधी फैसले ले रही है और नींद में सोई हुई है, उसी तरह दौसा का प्रशासन भी नींद में है जो जन समस्याओं को लेकर ज्ञापन भी नहीं लेता है.

पूरे प्रदेश में हुआ विरोध प्रदर्शन

पिछले दिनों बिजली के दरों में बढ़ोतरी होने के चलते आज भारतीय जनता युवा मोर्चा की ओर से प्रदेश भर में विरोध प्रदर्शन किया गया था. इसी कड़ी में भाजयुमो के कार्यकर्ता दौसा कलेक्ट्रेट पर भी विरोध प्रदर्शन करने गए थे, लेकिन उनका ज्ञापन प्रशासनिक अधिकारियों ने व्यवस्ताओं के चलते नहीं लिया.

सीएम कॉन्फ्रेंस की तैयारियों में जुटे हुए थे कलेक्टर
दरअसल, जब भारतीय जनता युवा मोर्चा के कार्यकर्ता ज्ञापन देने दौसा कलेक्ट्रेट पहुंचे तो उस दौरान दौसा के कलेक्ट्रेट सभागार में अधिकारियों की एक बैठक आयोजित की जा रही थी. इस बैठक में जिला कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी सीएम कॉन्फ्रेंस को लेकर तैयारियां कर रहे थे और अधिकारियों से सरकार की फ्लैगशिप योजनाओं का फीडबैक ले रहे थे. ऐसे में ज्ञापन देने पहुंचे भाजयुमो कार्यकर्ताओं को काफी इंतजार करना पड़ गया. 

पहले भी कई बार दिख चुकी है ऐसी तस्वीर
दौसा कलक्ट्रेट में स्थित गणेश मंदिर में अनेक बार इस तरह ज्ञापन रख कर आ चुके हैं. जब भी कोई प्रतिनिधि मंडल कलेक्ट्रेट जाता है और अधिकारी व्यस्त रहते हैं तो इसी तरह के दृश्य देखने को मिलते हैं. पहले भी जब भाजपा सत्ता में थी तो कांग्रेसी कार्यकर्ता इस तरह भगवान गणेश को ज्ञापन रखकर चले जाते थे. अब जब सत्ता कांग्रेस की है तो इंतजार के बाद भाजपा के लोग किस तरह ज्ञापन रख कर चले जाते हैं.

 

ये भी पढ़ें-

दिल्ली की जीत के बाद अब AAP की राजस्थान में निकाय चुनाव लड़ने की तैयारी

 

RSS के नेताओं-दफ्तरों पर आंतकी हमले की आशंका का खतरा, विधानसभा में उठा मुद्दा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दौसा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2020, 7:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर