Rajasthan BSTC Pre Deled Exam 2020: इस तरह से कोरोना पॉजिटिव छात्र को प्रशासन ने दिलाई परीक्षा
Jaipur News in Hindi

Rajasthan BSTC Pre Deled Exam 2020: इस तरह से कोरोना पॉजिटिव छात्र को प्रशासन ने दिलाई परीक्षा
परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ख्याल रखा जा रहा है.

राजस्थान में सोमवार को प्री-डीएलएड परीक्षा (Pre Deled Exam 2020) का आयोजन किया गया. दौसा के भी 142 परीक्षा केंद्रों पर यह परीक्षा आयोजित की गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2020, 5:25 PM IST
  • Share this:
दौसा. राजस्थान में प्री-डीएलएड परीक्षा (Pre Deled Exam 2020) में कोरोना पॉजिटिव छात्र (Corona Positive Student) पीपीई किट (PPE Kit) पहन कर इग्जाम दे रहे हैं. पर्यवेक्षक भी पीपीई किट पहन कर इग्जाम ले रहे हैं. परीक्षा केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ख्याल रखा जा रहा है. दौसा के रामकरण जोशी स्कूल परीक्षा केंद्र पर कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थियों के लिए विशेष इंतजाम किए गए हैं. इस स्कूल के एक कमरे में सिर्फ कोरोना पॉजिटिव ही परीक्षा दे रहे हैं. कक्ष को पूरी तरह से सेनिटाइज कर कोरोना पॉजिटिव को बिठाया गया. राजस्थान शिक्षा विभाग के निर्देश के मुताबिक कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थियों की कॉपी को भी अलग लिफाफे में सील किया जाएगा.

कोरोना पॉजिटिव छात्रों के लिए अलग से व्यवस्था
बता दें कि राजस्थान में सोमवार को प्री-डीएलएड परीक्षा का आयोजन किया गया. दौसा के भी 142 परीक्षा केंद्रों पर यह परीक्षा आयोजित की गई. दौसा जिला मुख्यालय पर स्थित रामकरण जोशी स्कूल परीक्षा केंद्र पर कोरोना का हाल में कुछ अलग ही तस्वीर सामने आई, जहां एक कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थी को एग्जाम दिलवाई गई. बांदीकुई की रहने वाली कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थी दौसा जिला अस्पताल की कोरोना वार्ड में एडमिट थी. जैसे ही एग्जाम समय हुआ तो 108 एंबुलेंस के माध्यम से कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थी को रामकरण जोशी स्कूल परीक्षा केंद्र पर भिजवाया गया, जहां पूर्व में जिला कलेक्टर के निर्देश पर एक अलग की कक्ष की व्यवस्था की गई और उस कक्ष को पूरी तरह सैनिटाइज किया गया था.

प्रशासन ने इस तरह बरती सावधानी
कोरोना पॉजिटिव परीक्षार्थी के लिए अलग ही वीक्षक भी तैनात किया गया और वीक्षक को पीपीई किट पहनाई गई. वीक्षक भी कोरोना योद्धा बनकर जांबाज तरीके से एग्जाम लेता हुआ नजर आया और पीपीई किट पहनकर परीक्षार्थी को प्रश्न पत्र व ओएमआर सीट दी. साथ ही अनेक औपचारिकताओं पर हस्ताक्षर भी करवाए. इधर मरीज द्वारा परीक्षा देने की सूचना पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ पीएम वर्मा और जिला शिक्षा अधिकारी घनश्याम मीणा भी मौके पर पहुंचे और पूरे मामले की मॉनिटरिंग की. साथ ही इस बात का ख्याल रखा कि अन्य परीक्षार्थियों में कोरोनावायरस का संक्रमण न फैले.



ये भी पढ़ें किसानों के लिए बड़ा अलर्ट! आज जमा कर दें किसान क्रेडिट कार्ड का पैसा वरना...!

परीक्षा संपन्न होने के बाद परीक्षार्थी को एंबुलेंस के माध्यम से जिला अस्पताल पहुंचाने कक्ष को फिर से सैनिटाइज करने और परीक्षार्थी की उत्तर पुस्तिका को अलग लिफाफे में सील्ड करके अलग से ही भिजवाने की योजना भी तैयार की गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज