अपना शहर चुनें

States

दौसा: 21 साल बाद ओवर-फ्लो हुआ मोरेल बांध, हाई अलर्ट जारी, पुलिस जाब्ता तैनात

मोरेल बांध पर आधा फीट की चादर चल रही है। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
मोरेल बांध पर आधा फीट की चादर चल रही है। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

प्रदेश में हो रही जबरदस्‍त बारिश (Heavy Rain) के दौर में छोटे-बड़े बांधों के भरने का सिलसिला लगातार जारी है. दौसा जिले का मोरेल बांध (Morel dam) रविवार को 21 साल बाद एक बार फिर ओवर-फ्लो (over-flowed) हो गया.

  • Share this:
प्रदेश में हो रही जबरदस्‍त बारिश (Heavy Rain) के दौर में छोटे-बड़े बांधों के भरने का सिलसिला लगातार जारी है. दौसा जिले का मोरेल बांध (Morel dam) रविवार को 21 साल बाद एक बार फिर ओवर-फ्लो (over-flowed) हो गया. तीस फीट की भराव क्षमता वाला यह बांध शनिवार को लबालब हो गया था. बाद में रात करीब एक बजे इस बांध पर चादर चलना शुरू हो गई थी. वर्तमान में बांध पर करीब आधा फीट की चादर चल रही है.

इससे पहले 1998 में यह बांध ओवर-फ्लो हुआ था
यह बांध दौसा और सवाई माधोपुर जिले की सीमा पर स्थित है. बांध ओवर-फ्लो होने के कारण दौसा और सवाई माधोपुर के कई गांवों में हाई अलर्ट जारी किया गया है. इस बांध को किसानों की लाइफ लाइन कहा जाता है. इस बांध से सैकड़ों गांव में सिंचाई के लिए पानी भी नहर के माध्यम से दिया जाता है. बांध पूरी तरह लबालब हो जाने से आसपास के क्षेत्र के लोगों में खुशी का माहौल है. वर्ष 1981 में बाढ़ के दौरान यह बांध टूट गया था. इसके बाद 1998 में यह बांध ओवर-फ्लो हुआ था. उसके ठीक 21 वर्ष बाद एक बार फिर यह बांध ओवर-फ्लो हुआ है.

पुलिस तैनात
बांध ओवर-फ्लो होने के कारण वहां लोगों का जमावड़ा भी लगने लगा है. लोग एंजॉय करने के दृष्टिकोण से बांध पर पहुंच रहे हैं और जमकर लुत्फ उठा रहे हैं. बांध के आसपास लोगों की आवाजाही रोकने के लिए पुलिस व प्रशासन भी सतर्क है. बांध पर पुलिस को तैनात कर दिया गया है, ताकि कोई भी व्यक्ति वहां नहाने के लिए न जा सके.



सुर्खियां: तीर्थनगरी पुष्कर के 52 घाट डूबे, पहलू पर सियासत

चंबल नदी में उफान: खतरे के निशान से 1 मीटर ऊपर पहुंचा जलस्तर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज