लाइव टीवी

दौसा पुलिस की गिरफ्त में आए नशे के 4 सौदागर, 40 लाख रुपए की स्मैक बरामद

Ashish Sharma, Dausa | News18 Rajasthan
Updated: October 7, 2019, 5:17 PM IST
दौसा पुलिस की गिरफ्त में आए नशे के 4 सौदागर, 40 लाख रुपए की स्मैक बरामद
सभी आरोपी चोरी का मोबाइल उपयोग करते हैं. ये मोबाइल का आईएमईआई नंबर भी बदल लेते हैं. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

दौसा (Dausa) पुलिस ने नशे के सौदागरों (Drug Smuggler) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई (Big action) करते हुए एक गैंग से जुड़े 4 तस्करों को गिरफ्तार किया है. पुलिस (Police) ने आरोपियों के कब्जे से 468 ग्राम स्मैक (Smack) बरामद की है. बरामद स्मैक का बाजार मूल्य (Market Value) करीब 40 लाख रुपए बताया जा रहा है.

  • Share this:
दौसा. पुलिस ने नशे के सौदागरों (Drug Smuggler) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई (Big action) करते हुए एक गैंग से जुड़े 4 तस्करों को गिरफ्तार किया है. पुलिस (Police) ने आरोपियों के कब्जे से 468 ग्राम स्मैक (Smack) बरामद की है. बरामद स्मैक का बाजार मूल्य (Market Value) करीब 40 लाख रुपए बताया जा रहा है. आरोपियों के कब्जे से 81 हजार रुपए, 2 कार और स्टार नामक दुर्लभ प्रजाति के दो कछुए (Two turtles) भी बरामद किए हैं. आरोपियों को सिकराय न्यायालय में पेश किया गया, वहां उन्हें 11 अक्टूबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया.

सिंकदरा टोल प्लाजा के पास पकड़ा
पुलिस अधीक्षक प्रह्लाद सिंह ने बताया कि पुलिस ने सिकंदरा इलाके में रविवार को मुखबिर की सूचना पर इस कार्रवाई को अंजाम दिया. पुलिस ने मुख्य तस्कर कोटा निवासी भरत अरोड़ा को सिकंदरा टोल प्लाजा के पास दबोचा. पुलिस ने उसकी गाड़ी की तलाशी ली तो उसके कब्जे से 393 ग्राम स्मैक बरामद हुई. वहीं दुर्लभ प्रजाति के दो कछुए भी बरामद हुए. भरत अरोड़ा से हुई गहन पूछताछ के बाद उसके स्थानीय सहयोगी सिकंदरा निवासी फतेह सिंह गुर्जर को पकड़ा गया. फतेह सिंह के कब्जे से 75 ग्राम स्मैक और एक कार बरामद की गई.

मुख्य आरोपी काट चुका है 10 साल की सजा

दोनों आरोपियों से पूछताछ करने के बाद पुलिस उनकी गैंग के प्रभुदयाल सैनी और कमलेश जांगिड़ निवासी सिकंदरा तक पहुंची. पुलिस ने उनको भी गिरफ्तार कर लिया. इस गैंग का मुखिया भरत अरोड़ा है. भरत अरोड़ा के खिलाफ पहले से ही एनडीपीएस एक्ट सहित चोरियों के 16 मुकदमे दर्ज हैं. भरत अरोड़ा एनडीपीएस एक्ट के एक मामले में 10 साल की सजा भी काट चुका है.

मोबाइल का आईएमईआई नंबर भी बदल लेते हैं
पुलिस जांच में यह भी सामने आया है कि सभी आरोपी चोरी का मोबाइल उपयोग करते हैं. ये मोबाइल का आईएमईआई नंबर भी बदल लेते हैं. दौसा पुलिस अब इस मामले की जांच में भी जुटी हुई है कि आरोपी चोरी के मोबाइलों की आईएमईआई नंबर कैसे बदलते थे और गैंग में कितने लोग शामिल हैं.
Loading...

राजस्थान:घरवालों ने कर दिया था बेटे का अंतिम संस्कार, वो 20 दिन बाद लौट आया घर

नीय निकाय प्रमुख जनता सीधे चुनेंगी या पार्षद ? जल्द होगा फैसला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दौसा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 7, 2019, 4:43 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...