दौसा में अगवा कर मूक-बधिर दलित से धार्मिक स्थल पर गैंगरेप, तीन दिन बाद मिली वारदात की जानकारी
Dausa News in Hindi

दौसा में अगवा कर मूक-बधिर दलित से धार्मिक स्थल पर गैंगरेप, तीन दिन बाद मिली वारदात की जानकारी
इस घटना से इलाके में हड़कंम मच गया है.

यह वारदात 3 दिन पहले हुई थी, पर डरी-सहमी मूक-बधिर (Deaf and Dumb)बालिका इस बारे में अपने परिजनों को नहीं बता पाई. बाद में यह बात किसी तरह प्रशासन के पास पहुंची और वहां से इस वारदात की सूचना पुलिस अधिकारियों को मिली.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 9, 2020, 7:01 PM IST
  • Share this:
दौसा. दौसा (Dausa) के एक धार्मिक स्थल (Religious Places) पर ले जाकर मूक-बधिर (Deaf and Dumb) दलित बालिका के साथ गैंगरेप (Gangrape) किया गया है. इस मामले में 5 आरोपियों (Accused) के होने की बात कही जा रही है. वारदात का पता चलने के बाद पुलिस और प्रशासन (Police and Administration) में हड़कंप मच गया. बीती रात ही दौसा पुलिस की कई टीमें आरोपियों की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही हैं. आज सुबह पुलिस ने पीड़िता के परिजनों से मुलाकात की और इस मामले में शिकायत दर्ज की है. फिलहाल मंडावरी थाने में मुकदमा (FIR) दर्ज किया गया है.

पीड़िता की मां ने दर्ज कराया मुकदमा

दलित मूक-बधिर बालिका की मां ने मंडावरी थाने में आरोपी अनिल, किरोड़ी, धर्मेंद्र, राजकेश व धारा मीणा सहित अन्य लोगों के खिलाफ गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया है. पीड़िता की मां ने एफआइआर में बताया कि वह अपने पीहर गई थी और उनके पति दुबई में रहते हैं. इसी का फायदा उठाकर आरोपियों ने पीड़िता को अगवा कर एक धार्मिक स्थल पर ले गए और वहां गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया. पीड़िता न कुछ बोल सकती है और न ही कुछ सुन सकती है. वह डरी-सहमी भी है. ऐसे में वारदात की जानकारी मिलने में भी देरी हुई और एफआईआर दर्ज कराने में भी.



कुछ लोग हिरासत में लिए गए
हालांकि यह वारदात 3 दिन पहले हुई थी, पर डरी-सहमी मूक-बधिर बालिका इसके बारे में अपने परिजनों को नहीं बता पाई. हालांकि जब पीड़िता ने अपने परिजनों को अपने साथ हुई वारदात की जानकारी दी तो यह बात किसी तरह प्रशासन के पास पहुंची और वहां से इस वारदात की सूचना पुलिस अधिकारियों को मिली. बीती रात मिली इस सूचना के बाद दौसा का पुलिस तंत्र अलर्ट हुआ और आरोपियों की तलाश के लिए अनेक टीमें गठित कीं. पुलिस ने परिजनों और ग्रामीणों की निशानदेही पर कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया है. उनसे पूछताछ जारी है.

दुभाषिये की मदद से दर्ज हुआ बयान

दौसा एसपी मनीष अग्रवाल ने बताया कि इस मामले में पीड़िता किसी भी तरह बयान नहीं दे पा रही है, ऐसे में दुभाषिया (इंटरप्रेटर) के माध्यम से उसका बयान दर्ज किया गया. उन्होंने बताया कि लालसोट अस्पताल में पीड़िता का मेडिकल कराया गया है. गैंगरेप की वारदात से समूचे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है.

बीजेपी ने की आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग

इधर दलित बालिका के साथ रेप की वारदात की सूचना पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के निर्देश पर बीजेपी नेता और पूर्व संसदीय सचिव जितेंद्र गोठवाल पीड़िता के घर पहुंचे और पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली. बीजेपी नेता जितेंद्र गोठवाल ने पुलिस से आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज