राजस्थान में फिर गुर्जर आंदोलन की सुगबुगाहट, गुजरात के पाटीदार होंगे शामिल?
Dausa News in Hindi

राजस्थान में फिर गुर्जर आंदोलन की सुगबुगाहट, गुजरात के पाटीदार होंगे शामिल?
हार्दिक पटेल और कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला.

एसबीसी आरक्षण विधेयक हाईकोर्ट से खारिज होने के साथ ही गुर्जर आरक्षण आंदोलन से जुड़े लोगों में एक बार फिर से हलचल नजर आने लगी है.

  • Share this:
एसबीसी आरक्षण विधेयक हाईकोर्ट से खारिज होने के साथ ही गुर्जर आरक्षण आंदोलन से जुड़े लोगों में एक बार फिर से हलचल नजर आने लगी है.

इस बार गुर्जर नेता अपना कनेक्शन गुजरात पाटीदार आंदोलन से जोड़ते नजर आ रहे हैं. शनिवार इसी क्रम में पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल देर रात दौसा पहुंचे. हार्दिक का गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रवक्ता हिम्मत सिंह के घर जोरदार स्वागत किया गया.

इस दौरान हार्दिक ने एसबीसी आरक्षण मामले में अपनी बेबाक टिप्पणी करते हुए कहा है कि भाजपा सरकार ने गुर्जरों के साथ धोखा किया. बिल को नवीं अनुसूची में डलवाने का वायदा पूरा नहीं करने से ये हाल बने हैं.



हार्दिक ने साफ कहा कि वे पाटीदार आंदोलन व गुर्जर आंदोलन को मिलकर एक बार फिर नए सिरे से खड़ा करेंगे. इस दौरान गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रवक्ता ने कहा कि अब वह दिन दूर नहीं कि आंदोलन एक बार फिर से खड़ा हो जाएगा.
वहीं हाईकोर्ट के इस निर्णय को लेकर एसबीसी आरक्षण संघर्ष समिति के मुखिया कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला के आवास पर आपात बैठक बुलाई गई. बैठक में आरक्षण संघर्ष समिति के पदाधिकारी शामिल हुए. इस बैठक में कई अहम निर्णय लिए गए.

कर्नल बैंसला ने बताया कि हमारा समझौता सरकार के साथ हुआ था. हम माननीय न्यायालय का सम्मान करते हैं, लेकिन सरकार के प्रति समाज में गहरा आक्रोश व्याप्त है. 11 दिसंबर रविवार को पांच सदस्य कमेटी सरकार से वार्ता करने के लिए जयपुर रवाना होगी.

समिति के उपाध्यक्ष हरप्रसाद तंवर ने बताया कि सरकार ने हमेशा समय समाज को धोखा दिया है. हम इसे सहन नहीं करेंगे, यदि सरकार ने 2 दिन में इस समस्या का हल नहीं निकाला तो पूरा समाज आंदोलन पर उतारू हो जाएगा, जिसकी सारी जिम्मेदारी सरकार की होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading