Assembly Banner 2021

मांगें नहीं मानी गई तो मार्च में भी 3 दिन हड़ताल करेंगे बैंक कर्मी

बैंक कर्मियों ने मांगे नहीं मानी गई तो 1 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल की दी चेतावनी

बैंक कर्मियों ने मांगे नहीं मानी गई तो 1 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल की दी चेतावनी

देश में राष्ट्रीय कृत बैंकों (Nationalised banks) की हड़ताल (Strike) की वजह से दौसा (Dausa) जिले में पहले दिन करीब 250 करोड़ रुपए का लेन-देन (Business affected) प्रभावित हुआ है. हड़ताल के चलते शहर में राष्ट्रीयकृत बैंकों की करीब 70 शाखाएं पूरी तरह बंद रहीं.

  • Share this:
दौसा. देश में राष्ट्रीय कृत बैंकों (Nationalised banks) की हड़ताल (Strike) की वजह से दौसा (Dausa) जिले में पहले दिन करीब 250 करोड़ रुपए का लेन-देन (Business affected) प्रभावित हुआ है. हड़ताल के चलते शहर में राष्ट्रीयकृत बैंकों की करीब 70 शाखाएं पूरी तरह बंद रहीं. इन शाखाओं पर ताले लटके रहे. यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के पदाधिकारियों का कहना है कि केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रीय कृत बैंकों के कर्मचारियों को 11 वेतन समझौतों का लाभ नहीं दिया गया है. पिछले ढाई वर्षों से लंबित 11वां वेतन समझौता लागू नहीं किया गया है.

शीघ्र वेतन समझौता लागू करने की मांग

यूनियन के पदाधिकारियों का कहना है कि शीघ्र वेतन समझौता लागू नहीं किया गया और बैंकों का निजीकरण बंद नहीं किया गया तो मार्च माह में भी 3 दिन की हड़ताल रखी जाएगी. फिर भी यदि बैंक कर्मचारियों की मांगें नहीं मानी गई तो 1 अप्रैल से बैंकों की अनिश्चितकालीन हड़ताल की जाएगी.



हड़ताल और अवकाश के चलते 3 दिन बैंक बंद रहेंगे.

बता दें कि आज शुक्रवार और कल शनिवार को राष्ट्रीय कृत बैंकों की हड़ताल है जबकि रविवार को छुट्टी का दिन है. ऐसे में लगातार तीन दिनों तक बैंकों में कामकाज ठप रहेंगे. बैंकों में कामकाज नहीं होने के चलते करोड़ों के नुकसान होने का अंदाजा लगाया जा रहा है.

(दौसा से आशीष की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें - कोरोना वायरस : वीडियो कॉल कर बच्चों का हाल जान रहे परिवार के लोग

ये भी पढ़ें - अलवर में अपहरण कर नाबालिग लड़की से तीन दिन तक गैंगरेप, आरोपियों के खिलाफ FIR
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज