दौसा में पंच पटेलों ने किया परिवार का हुक्का-पानी बंद, पीड़ित पहुंचे कलेक्ट्रेट

दौसा जिले के धौली गांव में पंच पटेलों ने गांव में मारपीट के बाद एक परिवार का हुक्का-पानी बंद कर दिया है. गांव से पीने का पानी भी नहीं लेने दिया जा रहा है. यह परिवार कलेक्ट्रेट पहुंचकर गुहार लगा रहा है.

  • Share this:
दौसा में एक परिवार को गांव के पंच पटेलों ने समाज से बहिष्कृत कर दिया है और हुक्का-पानी बंद करने का फरमान सुनाया है. धौली गांव निवासी पीड़ित लाला राम गुर्जर बुधवार को पंचायत के इस फैसले के खिलाफ परिवार सहित कलेक्ट्रेट पहुंचा और ज्ञापन सौंपा. पीड़ित लाला राम का कहना है कि 9 मई को खेत की  पाइपलाइन को कुछ लोगों ने तोड़ दिया था, इसके बाद मारपीट भी हुई थी. पीड़ित का आरोप है कि उस घटना के बाद 11 मई को पंचायत बैठी जिसमें आसपास के गांव के पंच पटेलों ने उसे समाज से बहिष्कृत करने और उसका पानी बंद करने का फरमान सुना दिया.

पीड़ित लालाराम का आरोप है कि अब गांव में उसे पीने का पानी भी नहीं भरने दिया जाता. घर से भी बाहर निकाला जा रहा है. पंचायत ने 11 हजार रुपए का दंड लगाया है. पीड़ित का कहना था कि पंचायत ने आदेश दिया है कि जब तक आर्थिक दंड नहीं चुकाता तब तक उसे समाज से बहिष्कृत रखा जाएगा. इस मामले में दौसा उप जिला कलेक्टर गोवर्धन लाल शर्मा का कहना है कि ज्ञापन को नांगल राजावतान उप जिला कलेक्टर के पास भिजवा दिया है और इस मामले में उचित कार्रवाई शीघ्र की जाएगी.

ये भी पढ़ें-
धर्म परिवर्तन किया तो पंचायत ने सुनाया हुक्का-पानी बंद करने का फरमान

पंचायत का तुगलकी फरमान, पहले युवक का सिर मुंडवाया फिर खंभे में बांधकर की पिटाई



 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज