Home /News /rajasthan /

Rajasthan Politics: पायलट के कार्यक्रमों में नहीं आए गहलोत सरकार के 2 मंत्री, सचिन बोले- अपने-पराए की...

Rajasthan Politics: पायलट के कार्यक्रमों में नहीं आए गहलोत सरकार के 2 मंत्री, सचिन बोले- अपने-पराए की...

सच्चे-झूठे व अपने-पराए की परख के साथ आगे बढ़ो

सच्चे-झूठे व अपने-पराए की परख के साथ आगे बढ़ो

Jaipur News : राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार नजदीक है, लेकिन मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच खेमेबाजी शबाब पर है. खासकर कांग्रेस या जनता के कार्यक्रमों में गुटबाजी आसानी के नजर आ जाती है. सचिन पायलट जिस कार्यक्रम में जाते हैं, उससे गहलोत गुट के मंत्री और विधायक किनारा करने की कोशिश करते दिखते हैं. दौसा के कार्यक्रम में भी ऐसा ही हुआ.

अधिक पढ़ें ...

    जयपुर. राजस्थान में मंत्रिमंडल विस्तार (Cabinet expansion) से पहले खेमेबाजी दिखाई देने लगी है. पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने दौसा के जीरोता गांव के समीप कांग्रेस के वरिष्ठ कार्यकर्ता रहे स्वर्गीय किशनलाल बैरवा की मूर्ति का और खवारावजी गांव में शहीद घनश्याम गुर्जर की मूर्ति का अनावरण किया. दोनों ही कार्यक्रमों में जिले भर से कांग्रेस के अधिकांश जनप्रतिनिधि शामिल हुए, लेकिन महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ममता भूपेश (Mamta Bhupesh) व उद्योग मंत्री परसादीलाल मीणा (Parsadi Lal Meena) ने शिरकत नहीं की.

    दरअसल, अशोक गहलोत और पायलट समर्थकों के बीच गुटबाजी अक्सर कार्यक्रमों में नजर आ जाती है. कार्यक्रम में पायलट को बुलाए जाने पर गहलोत गुट के विधायक और मंत्री बहानेबाजी कर कार्यक्रम के कन्नी काट जाते हैं।

    2023 के चुनावों में हम परिपाटी को बदल देंगे
    दौसा में भी यही हुआ. दोनों मंत्रियों को मूर्ति अनावरण कार्यक्रमों में बतौर अतिथि निमंत्रित किया गया था और इनविटेशन कार्ड में भी मयफोटो के अतिथि में दर्शाया गया था. ऐसे में शहीद की मूर्ति अनावरण कार्यक्रम में मंत्रियों का नहीं आने को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं. इस मौके पर पायलट ने कहा कि राजस्थान में परिपाटी रही है एक बार एक पार्टी की सरकार तो दूसरी बार दूसरी पार्टी की सरकार, लेकिन 2023 के चुनावों में हम परिपाटी को बदलना चाहते हैं.

    दिल्ली पहुंचे CM अशोक गहलोत, प्रियंका गांधी से मिले; क्या पूरी होगी सचिन पायलट की मांग?

    पायलट ने दोहराया, कार्यकर्ताओं को मिलेगा सम्मान
    मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर सचिन पायलट ने कहा, मुझे उम्मीद है और भरोसा है कि कांग्रेस के उन कार्यकर्ताओं को मान-सम्मान मिलेगा. जिसने भाजपा सरकार में लाठियां खाईं, जेलों में गए, भूख हड़ताल की और राजस्थान की वर्तमान सरकार को बनाने में उनका अहम योगदान रहा है, उनको नहीं भूला जाएगा. उन्होंने कहा- सोनिया गांधी ने जो कमेटी बनाई थी, उसने अपना काम पूरा कर लिया है. जल्दी ही वह सबके सामने भी होगा.

    सच्चे-झूठे व अपने-पराए की परख के साथ आगे बढ़ो
    पायलट ने इशारों-इशारों में कहा कि जोश के साथ होश भी रखिए, सच्चे-झूठे व अपने-पराए की परख के साथ आगे बढ़ो. सिकराय विधायक ममता भूपेश व लालसोट विधायक परसादीलाल मीणा सियासी गुटबाजी में गहलोत खेमे के नजदीकी माने जाते हैं. ऐसे में दोनों ही मंत्रियों की पिछले काफी दिनों से सचिन पायलट के कार्यक्रमों से दूरी जगजाहिर है.

    निजीकरण व बेरोजगारी से युवा परेशान
    पायलट ने कहा कि पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर केंद्र सरकार ने पेट्रोल-डीजल पर जो दाम कम किए हैं, उसे जनता जानती है और समय पर जनता इसका जवाब भी देगी. निजीकरण व बेरोजगारी से युवा परेशान हैं. इसका खामियाजा भाजपा को आगामी चुनावों में उठाना पड़ेगा. इस दौरान पायलट के साथ दौसा विधायक मुरारीलाल मीणा, जिला प्रमुख हीरालाल सैनी, पूर्व विधायक महेंद्र मीणा, पूर्व जिला प्रमुख गीता खटाना समेत कई पंचायत समितियों के प्रधान व सरपंच भी मौजूद रहे.

    Tags: Ashok gehlot, Ashok Gehlot Vs Sachin Pilot, Dausa news, Rajasthan news in hindi, Sachin pilot

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर