Home /News /rajasthan /

RAS Pre Exam: मेल गार्ड ने निकाली लड़कियों की नथुनी-बाली, काटे कपड़े, लोगों ने कहा- ये शर्मनाक है!

RAS Pre Exam: मेल गार्ड ने निकाली लड़कियों की नथुनी-बाली, काटे कपड़े, लोगों ने कहा- ये शर्मनाक है!

आरएएस परीक्षा से पहले लड़की की बाली निकालता गार्ड.

आरएएस परीक्षा से पहले लड़की की बाली निकालता गार्ड.

RAS Preliminary Examination 2021 Update News: राजस्थान (Rajasthan) में 27 अक्टूबर को आरएएस (RAS) प्री एग्जाम आयोजित किया गया. आरोप लगाए जा रहे हैं कि दौसा और बीकानेर (Dausa and Bikaner) में परीक्षा देने आई लड़कियों एवं महिलाओं की अस्मिता का ख्याल नहीं रखा गया. बीकानेर में भीड़ के बीच महिलाओं के कपड़े कतरने की तस्वीरें सामने आईं. जबकि दौसा में महिला परीक्षार्थी की नाक का कांटा पुरुष गार्ड द्वारा खोला गया.

अधिक पढ़ें ...

दौसा. राजस्थान प्रशासनिक सेवा (Rajasthan Administrative Service) की प्रारंभिक प्रारंभिक परीक्षा (Preliminary examination) में आरपीएससी की व्यवस्था को लेकर सवाल खड़े किए जा रहे हैं. 27 अक्टूबर को आयोजित इस परीक्षा के दौरान किसी भी तरह की गड़बड़ी नहीं हो इसके लिए प्रशासनिक स्तर पर खास इंतजाम किए गए थे. सीसीटीवी (CCTV) कैमरे की निगरानी से लेकर पुलिस (Police) का साइबर सेल एक्टिव था. नकल रोकने के लिए विशेष दस्ते तैनात किए गए थे. परीक्षा केंद्रों (Exam Center) पर चौकसी भी बढ़ा दी गई थी, लेकिन इस बीच कई परीक्षा केंद्रों से शर्मसार कर देने वाली तस्वीरें सामने आईं. बीकानेर (Bikaner) में जहां महिला परीक्षार्थी की पुरुष गार्ड द्वारा आस्तीन के स्लीव्स काटे गए. वहीं दौसा (Dausa) में पुरुष गार्ड द्वारा महिला परीक्षार्थी नाक की नथनी और कानी की बाली खोली गई.

ऐसे में आरएएस प्रारंभिक परीक्षा (RAS Pre Exam) में महिलाओं की निजता तार तार होती हुई नजर आई. बीकानेर की घटना पर जहां राष्ट्रीय महिला आयोग ने प्रसंज्ञान लेते हुए राजस्थान के मुख्य सचिव से पूरे घटनाक्रम को लेकर जवाब मांगा है. वहीं अब दौसा की तस्वीरें भी सामने आ चुकी हैं. सवाल किए जा रहे हैं कि आरएएस प्रारंभिक परीक्षा में परीक्षा के नाम पर किसी को महिलाओं को अपमानित करने का अधिकार किसने दिया, क्या इस तरह के सरकारी निर्देश हैं या फिर किसी ने ओवर कॉन्फिडेंट में खुद के फैसले से यह सब कुछ कराया है.

निजता के हनन का आरोप
आरोप लगाए जा रहे हैं कि आरएएस प्रारंभिक की परीक्षा देने आई लड़कियों एवं महिलाओं की अस्मिता का ख्याल नहीं रखा गया और भीड़ के बीच महिलाओं के कपड़े कतरने की तस्वीरें सामने आईं. वहीं दौसा में महिला परीक्षार्थी की नाक का कांटा पुरुष गार्ड द्वारा खोला गया. कहा जा रहा है कि सार्वजनिक रूप से महिलाओं के कपड़े काटना या फिर आभूषण खोलना ही अपने आप में महिलाओं की निजता का हनन है. वहीं पुरुष गार्डों द्वारा इस तरह का कृत्य करना निश्चित रूप से महिलाओं की निजता के हनन के साथ-साथ अपमानित करने वाला कृत्य है. परीक्षा के बाद अब महिला संगठनों से जुड़ी महिलाएं और राजनीतिक दलों की महिलाएं भी इन तस्वीरों को गलत बता रही हैं.
राजस्थान की ताजा खबरें देखें- Live

दौसा जिला परिषद के सदस्य और बीजेपी नेता नीलम गुर्जर ने कहा कि महिलाओं के आभूषण पुरुषों द्वारा खोलना और उनके कपड़े कतरना निश्चित रूप से महिलाओं के निजता का हनन है इसके लिए सरकार को जवाब देना चाहिए. वहीं दोषी लोगों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए. उन्होंने कहा कि आगामी परीक्षाओं में महिलाओं की निजता का ध्यान रखा जाए और उन्हें इस तरह सार्वजनिक रूप से अपमानित नहीं किया जाए.

Tags: Dausa news, Job and career, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर