अपना शहर चुनें

States

युवती ने पुलिस-प्रशासन को किया चक्करघनी, वे उसे बोरवेल में खोजते रहे और वो जयपुर में मिली

प्रशासन ने करीब 8 घंटे की मशक्कत के बाद बोरवेल के पास मशीनों से 40 फीट गहरा गड्ढा खुदवा लिया था.
प्रशासन ने करीब 8 घंटे की मशक्कत के बाद बोरवेल के पास मशीनों से 40 फीट गहरा गड्ढा खुदवा लिया था.

दौसा (Dausa) जिले में पुलिस-प्रशासन (Police administration) जिस युवती को बोरवेल (Borewell) में गिरे होने की संभावना के चलते 8 घंटे तक खुदाई कर रेस्क्यू ऑपरेशन (Rescue operation) चलाता रहा वो युवती दरअसल बोरवेल में थी ही नहीं. वह युवती देर शाम राजधानी जयपुर (Jaipur) में अपने परिचित के साथ मिल गई.

  • Share this:
दौसा. जिले में पुलिस-प्रशासन (Police administration) जिस युवती को बोरवेल (Borewell) में गिरे होने की संभावना के चलते 8 घंटे तक खुदाई कर रेस्क्यू ऑपरेशन (Rescue operation) चलाता रहा वो युवती दरअसल बोरवेल में थी ही नहीं. वह युवती देर शाम राजधानी जयपुर (Jaipur) में अपने परिचित के साथ मिल गई. परिजनों और पुलिस-प्रशासन को गुमराह (Astray) करने के लिए उसने बोरवेल के पास अपने कपड़े और सुसाइड नोट (Suicide note) छोड़ दिया था. युवती घर से क्यों गई और किसके साथ गई पुलिस अब उसकी तफ्तीश में जुटी है.

पुलिस और प्रशासन में मच गया था हड़कंप
दरअसल दौसा जिले के लालसोट उपखंड के अनूपपुरा से शुक्रवार को दोपहर करीब साढ़े बारह बजे खबर आई थी कि गांव की एक नाबालिग युवती खुले बोरवेल में गिर गई है. सूचना पर पुलिस और प्रशासन में हड़कंप मच गया. आला अधिकारी मौके पर पहुंचे. वहां बोरवेल के पास युवती के कपड़े और एक सुसाइड नोट मिला था. पुलिस प्रशासन ने युवती द्वारा आत्मदाह करने की संभावना को देखते हुए उसकी बोरवेल में तलाश के लिए एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को बुलाकर रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू किया.

मशीनों से 40 फीट गहरा गड्ढा खोद लिया था
एनडीआरएफ और एसडीआरएफ टीमों ने बोरवेल के पास गड्ढा खोदना शुरू किया. प्रशासन ने करीब 8 घंटे की मशक्कत के बाद बोरवेल के पास मशीनों से 40 फीट गहरा गड्ढा खुदवा लिया और युवती तलाश करती रही. इसी बीच रात करीब साढ़े आठ बजे युवती के जयपुर में मिल जाने की सूचना मिली तो पुलिस-प्रशासन ने राहत की सांस ली और रेस्क्यू ऑपरेशन बंद किया गया.



पुलिस कर रही है पूछताछ
फिलहाल पुलिस युवती से पूछताछ कर रही है ताकि घटना के कारणों का पता लग सके और युवती घर से क्यों गई थी और किसके साथ गई थी. प्रथम दृष्टया माना रहा है कि युवती ने घरवालों और पुलिस प्रशासन को गुमराह करने के लिए कपड़े बोरवेल के पास ही डाल दिए और दूसरे कपड़े पहन कर जयपुर चली गई. इसके साथ ही एक सुसाइड नोट भी लिख दिया ताकि पुलिस और प्रशासन के साथ-साथ परिजन भी बोरवेल में गिरने की बात को सही मानकर उसमें उलझते रहें.

 

दौसा: बोरवेल में गिरी युवती, मौके पर मिला सुसाइड नोट, NDRF & SDRF पहुंची

भरतपुर: शहीद सौरभ कटारा को जब नवविवाहित पत्नी ने कंधा दिया तो रो पड़ा गांव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज