राजस्‍थान सरकार के इस फैसले के बाद जयपुर जाने से परहेज कर रहे हैं हवाई यात्री, फिर रद्द हुई 11 फ्लाइट
Jaipur News in Hindi

राजस्‍थान सरकार के इस फैसले के बाद जयपुर जाने से परहेज कर रहे हैं हवाई यात्री, फिर रद्द हुई 11 फ्लाइट
नागरिक उड्डयन मंत्रालय की ओर से मंजूरी मिलने के बाद हर दिन सैकड़ाें विमान उड़ान भरकर हजारों लोगों को उनके घर पहुंचा रहे हैं.

यात्री भार की कमी से चलते यदि फ्लाइट (Flight) रद्द होती है, तो एयरलाइंस (Airline) यात्री को उसकी टिकट (Air Ticket) के पैसे वापस नहीं कर रही है.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जयपुर. राजस्‍थान के जयपुर एयरपोर्ट से घरेलू उड़ानों के रद्द होने का सिलसिला आज चौथे दिन भी जारी रहा. आलम यह है कि 25 मई के बाद से लेकर अब तक जयपुर एयरपोर्ट से सिर्फ 50 फीसदी फ्लाइट्स ही उड़ान भर पा रही हैं. आपको बता दें कि जयपुर एयरपोर्ट से रोजाना करीब 20 फ्लाइट को शेड्यूल किया गया गया है. वहीं, इस शेड्यूल के विपरीत जयपुर एयरपोर्ट से बीते चार दिनों के दौरान 9 से 10 उड़ानें ही अपने गंतवयों को रवाना हो सकी हैं.

जहां तक बात आज यानी गुरुवार की है, तो आज एक बार फिर रोज की तरह फ्लाइट्स रद्द होने का सिलसिला सुबह से ही शुरू हो गया और शाम तक की करीब 11 फ्लाइट्स को कैंसिल कर दिया गया. जयपुर एयरपोर्ट से जिन नौ फ्लाइट्स को कैंसिल किया गया है, उनमें इंडिगो की 4, स्पाइसजेट की 2, एयर इंडिया की 2 और एयर एशिया की 1 फ्लाइट शामिल हैं. उल्‍लेखनीय है कि बीते चर दिनों से लगातार जयपुर एयरपोर्ट से महज 50 फीसदी फ्लाइट्स ही उड़ान भर पा रही हैं.

इस वजह से रद्द हो रही हैं फ्लाइट्स
सूत्रों के अनुसार, फ्लाइट्स रद्द होने की तमाम वजहों में एक मुख्य वजह क्‍वारंटाइन के नियमों का सख्त होना है, जिसकी वजह से लोग यात्रा करने से परहेज नहीं कर रहे है. उल्‍लेखनीय है कि बीते दिनों राज्‍य सरकार ने दूसरे राज्‍य से आए किसी भी हवाई यात्री को 7 दिनों के लिए क्‍वारंटाइन में भेजने का फैसला किया था. अब ऐसे में जो शख्स सिर्फ एक दिन के लिए जयपुर आना चाहता है, वह इऩ नियमों में नहीं उलझना चाह रहा है. वहीं, इन दिनों कोरोना महामारी के प्रति सजगता के चलते भी तमाम यात्री हवाई यात्रा से परहेज कर रहे हैं.



टिकट रिफंड में एयरलाइंस की आनाकानी


एयरलाइंस कंपनियों की मनमानी के चलते भी इन दिनों यात्री परेशान हैं. जब भी यात्रीभार की कमी से कोई फ्लाइट रद्द होती है, तो वो यात्री को उसकी टिकट के पैसे वापस नहीं कर रही है. एयरलाइंस का यात्रियों पर दबाव होता है कि वह उसके बदले में किसी भी दूसरे डेस्टिनेशन की टिकट ले ले. यात्री फ्लाइट रद्द होने पर अपने पैसे वापस चाहता है, जबकि इस बात के लिए एयरलाइंस राजी नहीं हो रही हैं. कुल मिलाकर हवाई यात्रा पर पर जा रहे मुसाफिरों के सामने दुश्वारियां बहुत ज्यादा है. अब ऐसे में जयपुर एयरपोर्ट अथॉरिटी और एयरलाइंस कंपनियां लगातार घटते यात्रीभार के चलते चिंता में है.

 

यह भी पढ़ें:

MP: कोरोना पॉजिटिव जीजा के चलते 14 दिनों के लिए ‘कैद’ दुल्‍हा-दुल्‍हन, 100 घराती-बराती भी हुए क्‍वारंटाइन

नर्सिंग में 80% महिला आरक्षण के खिलाफ AIIMS में शुरू हुआ #Save_male_nurses अभियान

 
First published: May 28, 2020, 2:27 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading