लाइव टीवी

खतरे के निशान से 11 मीटर ऊपर पहुंची चंबल नदी, दो दर्जन गांवों में घुसा पानी, हाई अलर्ट जारी

Rakesh Singhal | News18 Rajasthan
Updated: September 15, 2019, 5:30 PM IST
खतरे के निशान से 11 मीटर ऊपर पहुंची चंबल नदी, दो दर्जन गांवों में घुसा पानी, हाई अलर्ट जारी
धौलपुर में चंबल नदी का खतरे का निशान 129.79 मीटर है, जबकि यह 140.80 मीटर ऊपर बह रही है। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) और राजस्थान (Rajasthan) में हो रही भारी बारिश (Heavy rain) के कारण चंबल नदी (Chambal River) का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है. यह खतरे के निशान से 11 मीटर ऊपर (Danger mark) तक पहुंच गया है. इसके चलते धौलपुर (Dholpur) जिले के दो दर्जन गांवों में चंबल नदी का पानी घुस गया है.

  • Share this:
धौलपुर. मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) और राजस्थान (Rajasthan) में हो रही भारी बारिश (Heavy rain) के कारण चंबल नदी (Chambal River) का जलस्तर लगातार बढ़ता जा रहा है. यह खतरे के निशान से 11 मीटर ऊपर (Danger mark) तक पहुंच गया है. इसके चलते धौलपुर (Dholpur) जिले के दो दर्जन गांवों में चंबल नदी का पानी घुस गया है. चंबल नदी का खतरे का निशान 129.79 मीटर है, जबकि यह 140.80 मीटर ऊपर बह रही है. हालात को देखते हुए हाई अलर्ट (High alert) जारी किया गया है.

पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने लिया जायजा
सीएम अशोक गहलोत के निर्देश पर पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह ने रविवार को इन गांवों का दौर किया. मध्यप्रदेश के साथ-साथ राजस्थान के कोटा संभाग में हो रही भारी बारिश का असर धौलपुर जिले में भी देखा जा रहा है. कोटा में कोटा बैराज के 19 गेट खोल कर करीब 7 लाख क्यूसेक पानी रिलीज किया जा रहा है. यह पानी धौलपुर जिले से होकर गुजर रही चंबल नदी में आता है. चंबल नदी अपने खतरे के निशान 129.79 से बढ़कर 140.80 मीटर के ऊपर बह रही है. खतरे के निशान से चंबल नदी करीब 11 मीटर से अधिक होने पर जिला प्रशासन ने हाई अलर्ट जारी किया है.

निचले इलाकों में लगातार निगरानी हो रही निगरानी

नदी के निचले इलाकों में लगातार निगरानी रखी जा रही है. धौलपुर, सरमथुरा और राजाखेड़ा क्षेत्र के करीब दो दर्जन गांव जलभराव की चपेट में आ चुके हैं. बाढ़ की स्थिति को देखते हुए सीएम अशोक गहलोत ने तत्काल राहत कार्य शुरू करने के निर्देश दिए हैं. पर्यटन मंत्री ने सर्किट हाउस में आयोजित प्रेसवार्ता में बताया कि हालात बेहद जटिल हैं. आपातकालीन परिस्थिति से निपटने के लिए एसडीआरएफ और आरएसी की कंपनी धौलपुर पहुंच चुकी है. सेना को भी बुलाया जा रहा है.

दवाइयों और भोजन की व्यवस्था की
मंत्री विश्वेंद्र ने कहा कि अभी नदी का जल स्तर और बढ़ सकता है. चंबल नदी के आसपास और नीचे बसे हुए गांवों के लिए दवाइयां और भोजन की व्यवस्था कराई जाएगी. जिला कलेक्टर नेहा गिरी और एसपी मृदुल कच्छावा से जानकारी ली जा रही है.विदाई से पहले बारिश ने मचाया कोहराम, 5 जिलों में बाढ़ के हालात, सेना बुलाई

बारिश का सितम: चित्तौड़ में 24 घंटों से स्कूल में फंसे हैं 400 बच्चे और शिक्षक

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धौलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 15, 2019, 5:24 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर