होम /न्यूज /राजस्थान /डेढ़ लाख लीटर प्रतिदिन पानी की नि:शुल्क सप्लाई करती है यह समिति, बुझाती है कई लोगों की प्यास 

डेढ़ लाख लीटर प्रतिदिन पानी की नि:शुल्क सप्लाई करती है यह समिति, बुझाती है कई लोगों की प्यास 

राजस्थान के धौलपुर के बाड़ी उपखंड की श्री कैलादेवी प्याऊ समिति करीबन 50 वर्षों से लगातार निशुल्क प्याऊ व्यवस्था को संचा ...अधिक पढ़ें

    दयाशंकर शर्मा/धौलपुर. राजस्थान के धौलपुर के बाड़ी उपखंड की श्री कैलादेवी प्याऊ समिति के कार्यों की चर्चा क्षेत्र में खूब हो रही है. 50 वर्षों से यह समिति नि:शुल्क पानी की व्यवस्था लोगों के लिए कर रही है. समिति के अध्यक्ष विजय सिंघल ने बताया कि वर्तमान में कैलादेवी प्याऊ सेवा समिति बाड़ी में कुल 43 प्याऊओं का संचालन कर रही है. इसके अलावा चैत्र माह में करौली जिले के कैला देवी माता मंदिर में भी पेयजल की व्यवस्था की जाती है, जो 20 दिन लगातार अनवरत रूप से रहती है. जिसमें 4 टैंकर प्रतिदिन सप्लाई किए जाते हैं. जिसमें 250 नल लगाये जाते हैं.

    संस्था कोषाध्यक्ष बहादुर मंगल, हरीमोहन मंगल आदि सदस्यों की मेहनत और टीम भावना से कार्य किया जा रहा है. इसके अलावा जिले के देहात में भूतेश्वर, विशनगिरि, रैना वाली माता, बाबू महाराज मंदिर मंचकुण्ड पर लगने वाले मेलों में पानी की प्याऊ अनेक वर्षो से संचालित की जा रही है. अध्यक्ष विजय सिंघल ने बताया कि समिति 1972 से लगातार अपनी सेवाएं दे रही है.

    एक से डेढ़ लाख लीटर पानी की होती है सप्लाई
    समिति की नींव स्वर्गीय रामदयाल मंगल द्वारा रखी गई थी संस्था की ओर से शहर में लगभग 2 दर्जन स्थानों पर एक हजार लीटर की पानी की टंकी लगवाई हैं. समिति की ओर से प्रतिदिन करीबन एक से डेढ़ लाख लीटर पानी की सप्लाई की जाती है. संस्थान के 5 अपने टैंकर है, जो सुबह से लेकर शाम तक कस्बे में संचालित 43 प्याऊओं में पेयजल को पहुंचाते हैं. बाड़ी कस्बे में संचालित बालिका विद्यालय में में पीने के पानी की व्यवस्था नहीं होने पर समिति ने 2500 बच्चियों वाले स्कूल में पीने के पानी की व्यवस्था को सुदृढ़ किया. जिसके तहत टंकी से पेयजल सप्लाई विद्यालय परिसर के अंदर नलों के माध्यम से करवाई गई.

    स्थानीय निवासी विशाल गर्ग ने बताया कि समिति न केवल स्थानीय प्याऊओं का ही संचालन करती है, बल्कि स्थानीय मेलों में भी पेयजल की व्यवस्था कराती है. विशनगिरी बाबा का मेला हो या बाबू महाराज का मेला, तुलसी वन का मेला हो या भूतेश्वर मेला. समिति की ओर से दर्शनार्थियों के लिए पेयजल व्यवस्था कराई जाती है. लाल रंग की टंकियां शहर के बसेड़ी मार्ग से लेकर माता मंदिर तक, बचन पैलेस से लेकर धनौरा रोड तक अनेक स्थान पानी की टंकी रखवाई गई हैं, जिन्हें लाल रंग से पेन्ट किया गया है। शहर के व्यस्ततम चौराहा भारद्वाज मार्केट, गल्र्स स्कूल के सामने, अम्बेडकर पार्क के पास, मथुरा पैलेस के सामने सहित शहर के विभिन्न स्थानों पर चलने वाली इन 43 प्याऊ को सुबह से लेकर शाम तक टैंकरों से भरा जाता है.

    Tags: Dholpur news, Rajasthan news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें