होम /न्यूज /राजस्थान /

धौलपुर नरेश कुशवाह हत्याकांड: विधायक शोभारानी कुशवाह के 2 देवर गिरफ्तार, 10 साल से थे फरार

धौलपुर नरेश कुशवाह हत्याकांड: विधायक शोभारानी कुशवाह के 2 देवर गिरफ्तार, 10 साल से थे फरार

Dholpur News: नरेश कुशवाह हत्याकांड में पुलिस ने विधायक  शोभारानी कुशवाह के 2 देवरों को गिरफ्तार कर लिया है.

Dholpur News: नरेश कुशवाह हत्याकांड में पुलिस ने विधायक शोभारानी कुशवाह के 2 देवरों को गिरफ्तार कर लिया है.

Dholpur News: धौलपुर विधायक शोभारानी कुशवाह (MLA Shobharani Kushwaha) की मुश्किलें और बढ़ गई हैं. करीब 10 साल पहले 27 दिसंबर 2012 को हुई छात्र नेता की हत्या के मामले में पहले से ही विधायक के पति और धौलपुर के पूर्व विधायक बीएल कुशवाह को अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. अब शोभारानी के दो देवरों को इस चर्चित हत्याकांड में पुलिस ने अपनी गिरफ्त में लिया है.

अधिक पढ़ें ...

    हरवीर शर्मा

    धौलपुर. राजस्थान के धौलपुर जिले के चर्चित नरेश कुशवाह (Naresh Kushwah) हत्याकांड में पुलिस ने दो और आरोपी शिवराम कुशवाह और जितेन्द्र कुशवाह को गिरफ्तार किया है. दोनों आरोपी विधायक शोभारानी कुशवाह (MLA Shobharani Kushwah) के रिश्ते के देवर हैं. नरेश की हत्या प्रेम प्रसंग (Love affairs) के चलते हुई थी. हत्या और षड्यंत्र रचने के मामले में करीब 10 साल से फरार चल रहे दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी पर पुलिस (Rajasthan police) ने पांच-पांच हजार रुपये का इनाम भी घोषित था. लेकिन इतने समय से पुलिस को छका रहे आरोपी आखिर पुलिस के हत्थे चढ़ ही गए.

    जिला पुलिस अधीक्षक धर्मेन्द्र सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी रिश्ते में धौलपुर विधायक शोभारानी कुशवाह के देवर हैं. इसी मामले में धौलपुर के पूर्व विधायक बी एल कुशवाह को सजा हो चुकी है.

    प्रेम प्रसंग में एक दशक पहले छात्र नेता की हुई हत्या
    पुलिस के मुताबिक 27 दिसंबर 2012 को धौलपुर जिले के सदर थाना इलाके के गांव झील का पुरा में छात्र नेता नरेश कुशवाह की प्रेम प्रसंग के चलते गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर निवासी शार्प शूटर सत्येंद्र जाट और रोबिन जाट के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था. वहीं हत्या की साजिश रचने के आरोप में तत्कालीन धौलपुर विधायक बीएल कुशवाह, उसके भाई शिवराम कुशवाहा और जीतेंद्र कुशवाहा के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था. मृतक के भाई थानसिंह ने पांच व्यक्तियों के विरुद्ध हत्या का मामला दर्ज कराया गया था.

    ये भी पढ़ें: रात को बार-बार भतीजे के घर पहुंच जाती थी चाची, पीछा छुड़ाने युवक ने किया खौफनाक कारनामा, पहुंचा जेल

    तत्कालीन विधायक कुशवाहा व शार्प शूटर सत्येंद्र को सजा हुई
    पुलिस ने धौलपुर के तत्कालीन विधायक बीएल कुशवाहा व शार्प शूटर सत्येंद्र जाट को गिरफ्तार कर लिया था. छात्र नेता की हत्या के इस मामले में दिसंबर 2016 में एडीजे कोर्ट धौलपुर ने हत्या के आरोपी शार्प शूटर सत्येंद्र जाट और तत्कालीन विधायक बीएल कुशवाहा को आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. तभी से दोनों जेल में सजा काट रहे हैं. वहीं इस मामले में बीएल कुशवाहा के आरोपी भाई शिवराम और जीतेंद्र तभी से फरार चल रहे थे.

    दस साल से फरारी काट रहे आरोपी पुलिस गिरफ्त में
    धौलपुर एसपी धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि इसी हत्या के षड्यंत्र के आरोप में करीब साल से शिवराम कुशवाहा पुत्र माधो सिंह निवासी जमालपुर थाना कौलारी जिला धौलपुर और जितेंद्र कुशवाहा उर्फ जीतू पुत्र रामनाथ निवासी जमालपुर थाना कौलारी जिला धौलपुर फरार चल रहे हैं. पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी पर पांच-पांच हजार का इनाम भी घोषित किया, लेकिन ये पुलिस की पकड़ में नहीं आए. अब धौलपुर शहर की सदर थाना पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए दोनों इनामी आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है. सदर थाना प्रभारी वीरेन्द्र मीणा ने इन्हें सैंपऊ बाईपास मोड पुल के नीचे से गिरफ्तार किया गया.

    Tags: Dholpur news, Love affair, Rajasthan news

    अगली ख़बर