होम /न्यूज /राजस्थान /Rajasthan: 4 सगे मासूम भाई-बहनों की आधी रात को छत से आई मौत, दृश्य देखकर कांप उठे लोग

Rajasthan: 4 सगे मासूम भाई-बहनों की आधी रात को छत से आई मौत, दृश्य देखकर कांप उठे लोग

धौलपुर हादसा: बताया जा रहा है कि पट्टियों के सपोर्ट के लिए लगाया गया पत्थर का तीरा टूट जाने से यह हादसा हुआ.

धौलपुर हादसा: बताया जा रहा है कि पट्टियों के सपोर्ट के लिए लगाया गया पत्थर का तीरा टूट जाने से यह हादसा हुआ.

Heart-wrenching big accident in Rajasthan: राजस्थान के धौलपुर जिले के मनिया कस्बे में एक मकान की पट्टियां टूट जाने से च ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

धौलपुर के मनिया कस्बे में गरीब परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़
कमरे में मां सोनम अपनी चार बेटियों और एक बेटे के साथ सो रही थी
परिवार का मुखिया हलवाई का काम करता है वह उस समय बाहर गया हुआ था

 हरवीर शर्मा.

धौलपुर. राजस्थान के धौलपुर (Dholpur) जिले के मनिया कस्बे में चार मासूम सगे भाई बहनों की एक साथ हुई मौत से लोग कांप उठे. यहां एक जर्जर मकान की पट्टियां भरभरा कर नीचे गिर पड़ी. इससे कमरे में सो रहे 4 बच्चों की दर्दनाक मौत हो गई. चारों सगे भाई बहन (Real siblings) थे. हादसे में उनकी मां और 1 बड़ी बहन गंभीर रूप से घायल हो गई हैं. उनका इलाज चल रहा है. एक साथ 4 बच्चों की दर्दनाक मौत होने से मृतकों के परिवार में ही नहीं बल्कि पूरे मनिया कस्बे में मातम पसर गया. हादसे कारण मकान की छत पर उपले का बनाया गया बिटोरा बताया जा रहा है.

पुलिस के अनुसार यह दर्दनाक हादसा मंगलवार की आधी रात को हुआ था. प्रमोद बघेला पिछले करीब 10 साल से मनिया कस्बे में सेड माता मंदिर बड़े स्कूल के पास किराए के मकान में रहता है. मकान काफी पुराना होने के कारण खराब स्थिति में था. प्रमोद की आर्थिक स्थिति कमजोर है. वह हलवाई का कार्य करके अपने परिवार की गुजर बसर करता है. मंगलवार शाम को प्रमोद किसी के यहां पुआ बनाने गया था. पीछे से घर पर उसकी पत्नी सोनम (35) समेत बेटी पूजा (7), साइना (4), फिजा (3), कल्लो (3) और साढ़े 3 माह का बेटा गोविंदा घर पर थे.

पट्टियों के सपोर्ट के लिए लगा पत्थर का तीरा टूट गया
ये लोग रात को कमरे में सो रहे थे. इसी दौरान रात करीब 2 बजे अचानक कमरे की पट्टियों के सपोर्ट के लिए लगा पत्थर का तीरा टूट गया. इससे सभी पट्टियां टूटकर भरभरा कर कमरे में सो रही सोनिया और उसके बच्चों पर आ गिरी. हादसे में साइना, फिजा, कल्लो और गोविंदा की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई. पूजा और सोनम घायल हो गईं. पट्टियों के अचानक टूटने से तेज आवाज हुई. इस पर आसपास के ग्रामीण दौड़ कर मौके पर पहुंचे.

घायलों की हालत स्थिर लेकिन खतरे से बाहर है
सूचना मिलते ही मनिया थाना पुलिस भी मौके पर पहुंची. उसने ग्रामीणों के सहयोग से मलबे में दबे बच्चों और उनकी मां को बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया. वहां साइना, फिजा, कल्लो और गोविंदा को मृत घोषित कर दिया गया. घायल सोनम और पूजा को इलाज के लिए जिला अस्पताल धौलपुर रेफर कर दिया. जिला अस्पताल के पीएमओ डॉ. समरवीर सिंह सिकरवार ने बताया कि दोनों की हालत अभी स्थिर है लेकिन खतरे से बाहर है.

उपले का बिटोरा छत पर ही लगा रखा था
कस्बेवासियों के अनुसार प्रमोद बघेला बेहद गरीब है. वह इसी पुराने खंडहर से मकान में रहकर अपने परिवार का जीवन यापन कर रहा था. वह एक गाय भी रखता था. उस कारण उसकी पत्नी सोनम ने कंडा उर्फ उपले का बिटोरा छत पर ही लगा रखा था. बताया जा रहा है कि बरसात के मौसम में बिटोरे में काफी पानी भर गया था. इससे उसका वजन कई गुना बढ़ गया. मकान की पट्टियों के सपोर्ट के लिए लगा पत्थर का तीरा अधिक वजन झेल नहीं पाया और वह टूट गया.

प्रेम विवाह करने पर पहले परिवार और गांव ने ठुकराया था
जानकारी के अनुसार प्रमोद बघेल ने दूसरी जाति की अपनी प्रेमिका सोनम से प्रेम विवाह किया था. इस कारण उसके परिवार और गांव वालों ने उसे गांव से निकाल दिया था. इसके चलते वह मनिया कस्बे में किराए के मकान में रहता था. बुधवार को सुबह जिला कलेक्टर अनिल कुमार अग्रवाल सहित पुलिस एवं प्रशासन के अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली. सिविल डिफेंस की टीम ने मौके पर पहुंचकर मलबे को हटाया. जिला कलेक्टर ने बताया कि पीड़ित परिवार को जल्द ही मुख्यमंत्री सहायता कोष से आर्थिक सहायता दिलाई जाएगी.

Tags: Big accident, Crime News, Dholpur news, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें