लाइव टीवी

दहेज हत्या के मामले में देवर को मिली दस साल कैद की सजा

News18 Rajasthan
Updated: October 16, 2018, 11:59 PM IST
दहेज हत्या के मामले में देवर को मिली दस साल कैद की सजा
आठ साल पुराने दहेज हत्या के एक मामले में मृत महिला के देवर को मंगलवार को दस साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई गई. धौलपुर जिले के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सलीम बदर ने यह सजा सुनाई है.

आठ साल पुराने दहेज हत्या के एक मामले में मृत महिला के देवर को मंगलवार को दस साल की कठोर कारावास की सजा सुनाई गई. धौलपुर जिले के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सलीम बदर ने यह सजा सुनाई है.

  • Share this:
धौलपुर जिले के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सलीम बदर ने आठ साल पुराने दहेज हत्या के मामले में आरोपित देवर को मंगलवार को दस साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई. अपर लोक अभियोजक अजय कुमार गुप्ता ने बताया कि तोताराम जाट सेवला निवासी भगवान सिंह ने मनियां थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी. इसमें बताया गया था कि उसने बेटी सुमन की शादी 20 अप्रैल 2008 को सादिकपुर गांव निवासी पुरुषोत्तम से की थी. हैसियत के अनुसार दहेज दिया, लेकिन इसके बावजूद सास, ससुर, पति, देवर और ननद उसे दहेज के लिए प्रताड़ित करते रहते थे और आए दिन मारपीट करते थे.

वे एक सोने की चेन, सोने की अंगूठी और एक लाख रुपए नकदी की मांग करते थे. एक बार उसकी बेटी को मारपीट कर घर से निकाल दिया, तब पीहर आकर बेटी ने यह बात बताई. इसके बाद रिश्तेदारों के माध्यम से ससुर व पति उनके घर आए. तब उन्होंने फिर से दहेज देने की बात पर पुत्री सुमन को ले जाने की बात कही. इस पर सोने की चेन व अंगूठी तो हाथों हाथ दी जबकि एक लाख रुपए कुछ दिनों में देने की बात कही, लेकिन कुछ दिनों बाद ही उसे फिर से मारना-पीटना शुरू कर दिया. इस पर वे मिलने गए और सभी को समझा आए, लेकिन 27 फरवरी 2010 को किसी परिचित का फोन आया कि उसकी बेटी को मारापीटा गया है.

वे सूचना पाकर परिवार सहित उसकी ससुराल पहुंचे तो बेटी सुमन मृत पड़ी हुई थी जबकि ससुराल वाले फरार थे. इसके बाद पोस्टमार्टम कराया गया. जिसमें फंदा लगाकर मारने की की बात सामने आई. इस पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चालान पेश किया.  मामले में सास, ससुर व पति को पूर्व में सजा हो चुकी है. जबकि देवर बंटी उर्फ कालीचरण को मंगलवार को दस साल कारावास की सजा सुनाई गई है.
(रिपोर्ट- राकेश सिंघल)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए धौलपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2018, 11:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर