होम /न्यूज /राजस्थान /Dhulpur News: निशुल्क कोचिंग कराती है यह संस्था, अब तक 80 फीसदी की लग चुकी सरकारी नौकरी

Dhulpur News: निशुल्क कोचिंग कराती है यह संस्था, अब तक 80 फीसदी की लग चुकी सरकारी नौकरी

आर्थिक दिक्कतों के चलते कई बच्चे 12वीं कक्षा के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोचिंग भी नहीं कर पाते हैं. ले ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- दयाशंकर शर्मा

धौलपुर. आर्थिक दिक्कतों के चलते कई बच्चे 12वीं कक्षा के बाद प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोचिंग भी नहीं कर पाते हैं. लेकिन अब ऐसे बच्चों के सपनों को साकार करने के लिए धौलपुर जिले के सरमथुरा उपखंड में ‘सोच बदलो गांव बदलो’ टीम की अनूठी पहल के चलते निशुल्क उत्थान कोचिंग की शुरुआत कर दी गई है. जिसके चलते अब सरकारी सेवा की तैयारी करने वाले सभी समाजों के बच्चे निशुल्क कोचिंग में भाग लेकर अपने सपनों को साकार कर सकेंगे.
संस्था का यह है उद्देश्य

निशुल्क कोचिंग के व्यवस्थापक रामपाल मीणा ने बताया कि हमारा मुख्य उद्देश्य है कि जो परिवार आर्थिक हालातों के कारण प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए पढ़ नहीं पाते हैं. और प्राइवेट कोचिंग में अधिक फीस होने के कारण तैयारी नहीं कर पाते हैं. ऐसे बच्चों के लिए हमने निशुल्क कोचिंग सरमथुरा कस्बे में शुरूआत की है. हमारा मकसद है कि सभी वर्गों के गरीब बच्चों को शिक्षा प्रदान कर उन्हें बराबरी में लाना है.

 80 प्रतिशत छात्रों का हो चुका है सरकारी सेवा में चयन

सोच बदलो गांव बदलो टीम के सचिव मीणा ने बताया कि हमारी निशुल्क कोचिंग की मुहिम की शुरुआत डॉक्टर सतपाल द्वारा 2017 में की गई थी. हमारी यह मुहिम धीरे धीरे रंग भी ला रही है. हमारी इस मुहिम के जरिए सरमथुरा, बाड़ी, करौली जिले में भी निशुल्क कोचिंग संचालित है. जहां हजारों की तादात में गरीब परिवारों के बच्चे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे हैं. जिनमें से 80 प्रतिशत छात्र छात्राओं का सरकारी सेवा में चयन हो चुका है. निशुल्क कंपटीशन कोचिंग की इस मुहिम में हमारे लिए सभी समाजों के भामाशाह, सरकारी अधिकारी और कर्मचारी तन-मन-धन से सहयोग करते हैं.

निशुल्क कोचिंग का ऐसे उठाएं लाभ

संस्था के सचिव का कहना है कि जो भी बच्चे इस कोचिंग में भाग लेना चाहते हैं. वह अपने अभिभावक के संग निशुल्क कोचिंग सरमथुरा कार्यालय पर आएं. साथ में दोनों का आधार कार्ड और एक पासपोर्ट साइज फोटो लेकर आएं. निशुल्क कोचिंग में भाग लेने के लिए छात्र छात्राओं को 100 रुपए जमा कराने पड़ेंगे. जो हर साल वार्षिक फीस के तौर पर आईडी कार्ड के लिए होंगे.

Tags: Dholpur news, Rajasthan news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें