प्रवासी राजस्थानी के आने में राज्यों की अलग-अलग नीतियां बाधक : परिवहन मंत्री
Jaipur News in Hindi

प्रवासी राजस्थानी के आने में राज्यों की अलग-अलग नीतियां बाधक : परिवहन मंत्री
राजस्‍थान के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खचारियावास ने शुक्रवार को परिवहन भवन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेशभर के आरटीओ की बैठक ली है.

राजस्‍थान (Rajasthan) के परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खचारियावास ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि केंद्र सरकार को इसे लेकर स्पष्ट दिशा निर्देश जारी करने चाहिए.

  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) के दिशा निर्देशों के बाद लगातार रोडवेज बसों के माध्यम से प्रवासी मजदूरों को उनके राज्य के बॉर्डर पर छोड़ने का काम हो रहा है. वहीं, शुक्रवार रात को जयपुर और कोटा से दो ट्रेनों के माध्य्म से भी श्रमिकों और स्टूडेंट्स को अन्य राज्यों में भेजा गया. लेकिन, अन्य राज्यों से प्रवासी राजस्थानी और श्रमिकों के आने की संख्या काफी कम है. इसको लेकर परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खचारियावास ने केंद्र सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को इसे लेकर स्पष्ट दिशा निर्देश जारी करने चाहिए. क्योंकि, अन्य राज्यों की अलग-अलग नीतियां इसमें बाधक बनी हुई है.

केंद्र के स्तर पर हो मॉनिटरिंग
परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा है कि डेढ़ माह से लॉकडाउन के कारण बाहर फंसे राजस्थान के प्रवासी मजदूर, विद्यार्थी एवं आम आदमी की घर वापसी एवं यहां से एमपी, यूपी, बिहार, पश्चिम बंगाल या देश में कहीं भी अपने घरों को लौटने वाले लोगों की वापसी की मॉनिटरिंग केंद्र के स्तर किया जाना जरूरी है. अभी कई राज्यों की अपनी-अपनी अलग समझ और नीति होने के कारण लोगों की घर वापसी में परेशानी हो रही है. यहां तक कि राजस्थान से कोलकाता एवं कुछ अन्य राज्यों में लोगों को लेकर पहुंची बसें वहां से राजस्थान के लोगों को लाने के लिए अनुमति का इंतजार कर रही हैं. यह स्थिति ठीक नहीं है. केन्द्र को सुनिश्‍चत करना चाहिए कि राजस्थान से जो बसें किसी भी राज्य के प्रवासियों को लेकर जा रही हैं, वहां रहने वाले राजस्थान वासियों को उन बसों में वापस लाने की अनुमति संबंधित राज्य सरकार द्वारा त्वरित रूप से प्रदान की जाए.

परिवहन अधिकारियों को चेताया
खाचरियावास ने शुक्रवार को परिवहन भवन में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेशभर के आरटीओ की बैठक ली. बैठक में मंत्री ने अधिकारियों को चेताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री, उनकी और सरकार की मंशा साफ है कि इस संकट के समय पहले ही परेशान आमजन को विभागीय प्रक्रियाओं एवं औपचारिकताओं के कारण परेशान नहीं होना पडे़. अगर कोई पास बनवाने के लिए डीटीओ, आरटीओ के पास आता है, तो पास उदारता से बनना चाहिए, कोई बहानेबाजी नहीं होनी चाहिए. सड़क पर चलने वाली गाड़ी का पास बनाना प्रमुख रूप से परिवहन विभाग का ही काम है. अगर कहीं से पास बनाने के काम में कोताही की शिकायत मिली तो एक्शन लिया जाएगा.



यह भी पढ़ें: 
Exclusive: 4 साल की बच्‍ची का दर्द सुनकर बेचैन हुए DM, मदद के लिए खुद पहुंच गए मासूम के घर
LOCKDOWN: श्रमिक स्पेशल ट्रेन 1200 श्रमिकों को लेकर जयपुर से पटना के लिए हुई रवाना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading