COVID-19: राजस्‍थान से रूठे विदेशी पर्यटक, देसी पर्यटकों को भी लग रहा 'डर'
Jaipur News in Hindi

COVID-19: राजस्‍थान से रूठे विदेशी पर्यटक, देसी पर्यटकों को भी लग रहा 'डर'
आमेर महल देखने आने वाले पर्यटकों की संख्‍या में भारी कमी आई है.

पिछले साल, अगस्त महीने में आमेर महल (Amer Fort) आने वाले पर्यटकों (Tourist) की संख्‍या करीब 1.35 लाख थी, वहीं इस बार 14 हजार पर्यटक वहां पहुंचे हैं. 

  • Share this:
जयपुर. सितंबर की शुरुआत के साथ राजस्‍थान (Rajasthan) में पर्यटन (Tourism) का नया सीजन शुरू हो गया है, लेकिन कोरोना (Corona) के दंश की वजह से सूबे का पर्यटन उबरने का नाम नहीं ले रहा है. जून में खोले गए प्रदेश के सभी पर्यटन स्मारक अभी भी पर्यटकों (Touriest) की बांट जोह रहे हैं. अंतरर्राष्‍ट्रीय उड़ाने बंद होने की वजह से विदेशी पर्यटकों का आना तकरीबन बंद हो चुका है. वहीं, अब तक देसी पर्यटकों के दिल का डर भी नहीं निकला है. आलत ये है कि इस साल जनवरी से अब तक अकेले आमेर महल (Amer Fort) को करीब 32 करोड़ का घाटा हुआ है. पिछले साल, टिकट बिक्री से 41 करोड़ कमाने वाला आमेर महल इस साल अगस्त तक महज आठ करोड़ पर अटका हुआ है.

उल्‍लेखनीय है कि राजस्थान का पर्यटन विभाग यहां पर्यटकों को ज्यादा से ज्यादा लुभाने के लिए पधारो म्हारे देस की तर्ज पर पूरी तैयारी करे हुए हैं. लेकिन, कोराना का डर है कि लोगों से दिल से निकल ही नहीं रहा. जिस पर्यटन सीजन में पिछले साल अगस्त महीने में आमेर महल में एक लाख 35 हजार पर्यटक आए थे, वहां इस बार महज़ 14 हजार 569 पर्यटक ही आए है. आमेर महल अधीक्षक पंकज धरेंद्र के मुताबिक, अब तक लोगों के जेहन में बसा कोराना का डरा पर्यटन व्यवयास को पूरी तरह से तबाह कर देगा. अकेले आमेर महल को अब तक करीब 32 करोड़ घाटा सिर्फ टिकट बिक्री में हो चुका है. यहां काम करने वाले हजारों गाइड मार्च से बेरोज़गार हैं.

बुरे दौर से गुजर रहा है होटल व्‍यवसाय
आमेर आसपास के होटल से लेकर पर्यटकों पर निर्भर दुकाने- शोरूम सब बहुत बुरे दौर से गुजर रहे हैं. जून से पर्यटन को बूस्ट देने के लिए की गई शुरूआत से उम्मीद थी कि पहले से शुरू करेंगे तो सितम्बर तक पर्यटन पटरी पर आ जाएगा. लेकिन आलम ये है कि विदेशी पर्यटक यहां करीब करबी लुप्त हो चुके हैं. देसी पर्यटक भी गिने चुने ही पर्यटन के लिए बाहर निकल रहे हैं.  इस साल आमेर में सबसे पर्यटकों की आमद कोराना की दस्तक से पहले जनवरी में हुई थी, जनवरी में दो लाख पर्यटक आए और तीन करोड़ 36 लाख की कमाई हुई. उसके बाद, फरवरी में 1. 83 लाख पर्यटक आए और 3.36 करोड़ की कमाई हुई. वहीं, मार्च आते-आते लॉक डाउस से पहले 71900 पर्यटक आए और एक करोड़ 37 लाख की कमाई हुई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज