Dungarpur: हत्या के आरोप में करीब 100 हथियारबंद ग्रामीण 2 लोगों को उठाकर ले गये, 32 घंटे बाद पुलिस ने छुड़ाया
Dungarpur News in Hindi

Dungarpur: हत्या के आरोप में करीब 100 हथियारबंद ग्रामीण 2 लोगों को उठाकर ले गये, 32 घंटे बाद पुलिस ने छुड़ाया
पुलिस गुरुवार रात करीब 12 बजे दोनों बंधकों को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाने में सफल हो पाई.

डूंगरपुर जिले के सागवाड़ा थाना इलाके में 100 से अधिक हथियारबंद ग्रामीणों ने कराड़ा गांव को घेर लिया. ग्रामीण हथियारों के बल पर वहां से 2 लोगों को बंधक (Hostage) बनाकर अपने साथ अपने गांव ले गए.

  • Share this:
डूंगरपुर. जिले के सागवाड़ा थाना इलाके में 100 से अधिक हथियारबंद ग्रामीणों (Armed villagers) ने कराड़ा गांव को घेर (चढ़ोतरा) लिया. ग्रामीण हथियारों के बल पर वहां से 2 लोगों को बंधक (Kidnapped) बनाकर अपने साथ गांव ले गए. करीब 32 घंटे तक बड़ी संख्‍या में पुलिसकर्मी बंधक बनाये गये दोनों ग्रामीणों को छुड़ाने के लिये वहां डेरा डाले रहा. आखिरकार लंबी जद्दोजहद के बाद पुलिस गुरुवार देर रात ग्रामीणों से बंधकों को मुक्त करा पाई. पुलिस ने इस मामले में 10 नामजद सहित अन्य आरोपियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है.

जानकारी के अनुसार, करीब 2 महीने पहले सागवाड़ा थाना इलाके के डोली-रोतवड़ा गांव निवासी हरीश, कांति और भगवती कटारा बाइक पर सवार होकर अपने गांव जा रहे थे. इस दौरान गांव से थोड़ी दूर एक सड़क हादसे में तीनों की मौत हो गई थी. इस मामले को लेकर उनके परिजनों ने कराड़ा गांव निवासी दो युवकों पर हत्या का संदेह जताया था. लेकिन, सागवाड़ा थाना पुलिस की जांच में मामला एक्सीडेंट का निकला. पुलिस की जांच से असंतुष्ट ग्रामीणों ने बुधवार को कराडा गांव पर चढ़ोतरा कर दिया.

Rajasthan: आज से जैसलमेर होगा सियासत का नया ठिकाना, शिफ्ट होंगे गहलोत खेमे के MLAs



4 थानों का पुलिस बल तैनात
100 से अधिक हथियारबंद ग्रामीण कराड़ा गांव पहुंचे और उन दोनों युवकों को ढूंढ़ना शुरू किया, जिनके ऊपर वे हत्या का अंदेशा जता रहे थे. लेकिन, दोनों युवकों के मजदूरी के लिए अहमदाबाद जाने की सूचना मिलने के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने उन दोनों के पिता को उठा लिया और बंधक बनाकर अपने गांव ले आए. इसके बाद सूचना मिलने पर मौके पर चार थानों की पुलिस तैनात कर दी गई, लेकिन पुलिस बंधकों को नहीं छुड़ा पाई.

Rajasthan Weather Alert: आज अजमेर और भीलवाड़ा समेत 5 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, येलो अलर्ट जारी

गुरुवार देर रात को छुड़ाया
करीब 32 घंटे तक इलाके के पुलिस उपाधीक्षक और चार थानों के थानाधिकारी ग्रामीणों से समझाइश करते रहे, लेकिन ग्रामीण उन दो युवकों के बुलाने की मांग पर अड़े रहे जिन पर वे हत्या करने का संदेह जता रहे थे. बाद में पुलिस अधिकारियों ने बड़ी मुश्किल से ग्रामीणों को समझा बुझाकर गुरुवार रात करीब 12 बजे दोनों बंधकों को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाने में सफल हो पाई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading