राजस्‍थान बीजेपी में घमासान, सात विधायक हुए बागी, कई पदाधिकारी भी खफा

Jayesh Panwar | News18 Rajasthan
Updated: November 14, 2018, 1:40 AM IST
राजस्‍थान बीजेपी में घमासान, सात विधायक हुए बागी, कई पदाधिकारी भी खफा
(File Photo)

पहली सूची में टिकटों से वंचित रहे विधायक एक-एक करके बागी होते जा रहे हैं. अब डूंगरपुर और सागवाड़ा विधायक ने भी मैदान में ताल ठोकते हुए बगावत का बिगुल फूंक दिया है.

  • Share this:
बीजेपी में 131 प्रत्याशियों की जारी हुई पहली सूची के बाद उठा बगावत का बवंडर थमने का नाम नहीं ले रहा है. पहली सूची में टिकटों से वंचित रहे विधायक एक-एक करके बागी होते जा रहे हैं. पार्टी के कुल सात विधायक अभी तक बागी हो चुके हैं. वहीं कई पदाधिकारी भी पार्टी से अलग हो चुके हैं. इस क्रम में  डूंगरपुर और सागवाड़ा विधायक ने भी मैदान में ताल ठोकते हुए बगावत का बिगुल फूंक दिया है. इससे पहले नागौर विधायक हबीबुर्ररहमान, जैतारण विधायक और मंत्री सुरेंद्र गोयल ने भी पार्टी छोड़ने का ऐलान किया तो किशनगढ़ विधायक भागीरथ चौधरी और बड़ी सादड़ी से गौतम कुमार  भी नाराज चल रहे हैं.

डूंगरपुर विधायक देवेन्द्र कटारा ने मंगलवार को अपने समर्थकों के साथ मिटिंग कर निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरने का ऐलान कर दिया. देवेन्द्र कटारा पिछली दफा पहली बार विधायक बने थे. पेशे से वकील देवेन्द्र कटारा इससे पहले जिला परिषद सदस्य रह चुके हैं. पार्टी ने पिछली बार भी यहां प्रत्याशी बदलते हुए देवेन्द्र कटारा को नए चेहरे के रूप में सामने लाई थी. इस बार भी पार्टी ने यहां से मौजूदा विधायक को बदलते हुए नए चेहरे के रूप में जिला प्रमुख माधवलाल वरहात का टिकट दिया है.

यहां पढ़ें- राजस्थान विधानसभा चुनाव 2018 से जुड़ी ताजा खबरें  

राजस्थान विस चुनावः BJP की पहली लिस्ट में छाया वंशवाद, बेटे, पोते और बहुओं को भी टिकट 

गत बार ससुर के स्थान पर मिला था टिकट
दूसरी तरफ डूंगरपुर जिले की ही सागवाड़ा विधायक अनिता कटारा ने बगावत का झंडा बुलंद करते हुए निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान कर दिया है. अनिता कटारा बीजेपी के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री कनकमल कटारा की पुत्रवधू है. वर्ष 2013 में पार्टी ने यहां से कनकमल कटारा की जगह नए चेहरे के रूप में अनिता कटारा को मैदान में उतारा था. अनिता कटारा पेशे से शिक्षिका है. पिछले चुनाव में वे शिक्षक पद से इस्तीफा देकर चुनाव मैदान में उतरी थी.

समर्थकों को संबोधित करते विधायक देवेन्द्र कटारा। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

Loading...

कल दाखिल करेंगी नामांकन
उसके बाद से अनिता कटारा के अपने ससुर कनकमल कटारा से कुछ मतभेद हो गए बताए जाते हैं. सूत्र बताते हैं कि इस बार कनकमल कटारा भी अनिता कटारा को टिकट दिए जाने के फेवर में नहीं थे. इस बार पार्टी ने यहां से भी फिर प्रत्याशी बदलते हुए पूर्व प्रधान शंकरलाल डेचा को टिकट दिया है. अनिता बुधवार को अपना नामांकन दाखिल करेंगी.

हां पढ़ें- राजस्थान विधानसभा चुनाव की ताजा अपडेट LIVE 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए डूंगरपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 13, 2018, 3:11 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...