• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • डूंगरपुर में 30 घंटे तक होती रही जीप में रखी लाश की सौदेबाजी, 4 लाख में हुआ समझौता, जानिये पूरा मामला

डूंगरपुर में 30 घंटे तक होती रही जीप में रखी लाश की सौदेबाजी, 4 लाख में हुआ समझौता, जानिये पूरा मामला

4 अगस्त को दोपहर से लेकर 5 अगस्त की शाम तक पुलिस की मौजूदगी में शव की सौदेबाजी चलती रही.

4 अगस्त को दोपहर से लेकर 5 अगस्त की शाम तक पुलिस की मौजूदगी में शव की सौदेबाजी चलती रही.

Dungarpur Crime News: गुजरात से सटे राजस्थान के आदिवासी जिले डूंगरपुर में दिल को दहला देने वाली घटना सामने आई है. यहां एक युवक की हत्या के बाद मौताणे की मांग को लेकर करीब 30 घंटे तक शव की सौदेबाजी (Negotiation) चलती रही.

  • Share this:

डूंगरपुर. राजस्थान के आदिवासी जिले डूंगरपुर (Dungarpur) में इंसान का क्रूर चेहरा दिखाने वाली में एक बेदह सनसनीखेज घटना सामने आई है. यहां एक युवक की हत्या (Murder) के बाद पहले तो उसका शव 20 घंटे मोर्चरी में पड़ा रहा. पोस्टमार्टम की कार्रवाई के बाद जब पुलिस ने शव का अंतिम संस्कार करने के लिए उसे परिजनों को सौंपा तो उन्होंने सौदेबाजी (Negotiation) शुरू कर दी. उसके बाद 30 घंटे तक शव की सौदेबाजी चलती रही. इस दौरान शव सड़क पर खड़ी जीप में ही पड़ा रहा. बाद में 4 लाख में शव का समझौता होने के बाद शव को मोक्ष मिल पाया. खास बात यह है कि यह सौदेबाजी पुलिस की मौजूदगी में हुई.

दरअसल, डूंगरपुर जिले के बिछीवाड़ा थाना इलाके के चुंडावाड़ा गांव में 3 अगस्त की शाम को करीब 5 लोगों ने मिलकर युवक मुकेश मीणा पर धारदार हथियारों से हमला कर उसकी हत्या कर दी थी. वारदात के बाद से वहां माहौल गरमाया हुआ था. मौके पर पहुंची ने पुलिस ने समझाइश कर 4 अगस्त को पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया था. शव को चुंडावाड़ा गांव ले जाने के बाद परिजनों ने उसे गाड़ी से नहीं उतारा और मौताणे की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए. इस दौरान लोगों ने जमकर हंगामा भी किया.

गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस बल तैनात
चुंडावाड़ा गांव में तनाव के माहौल को देखते हुए एसपी ने वहां पुलिस बल तैनात कर दिया. 4 अगस्त को दोपहर से लेकर 5 अगस्त की शाम तक शव की सौदेबाजी चलती रही. परिजन और ग्रामीण हत्या के आरोपी युवकों के परिवार से मौताणे की मांग को लेकर बैठे रहे और युवक का शव गाड़ी में ही रखा रहा. परिजन मौताणा नहीं मिलने तक शव का अंतिम संस्कार नहीं करने पर अड़े रहे.

पुलिस कराती रही दोनों पक्षों में समझौता
पुलिस परिजनों से समझाइश का प्रयास करती रही, लेकिन वे नहीं माने. आखिरकार 5 अगस्त की शाम को पुलिस की मौजूदगी में दोनों पक्षों के बीच समझौता हुआ. आरोपी पक्ष की ओर से पीड़ित पक्ष को मौताणे के रूप में 4 लाख रुपये की राशि दिया जाना तय होने के बाद गुरुवार देर शाम शव का अंतिम संस्कार किया गया. इसके बाद पुलिस ने भी राहत की सांस ली. हत्या का कारण युवकों में एक लड़की को लेकर आपसी रंजिश होना बताया जा रहा है. पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास तेज कर दिए हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज