Home /News /rajasthan /

डूंगरपुर: ग्रामीण विकास कार्यों में गड़बड़ी करना अधिकारियों को पड़ा भारी

डूंगरपुर: ग्रामीण विकास कार्यों में गड़बड़ी करना अधिकारियों को पड़ा भारी

डूंगरपुर जिले में ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग की योजनाओं के कार्यों में गड़बड़ी करना मांडवा पंचायत के जनप्रतिनिधि और अधिकारियों को भारी पड़ गया.

लोकायुक्त कार्यालय में की गई शिकायत के बाद हुई जांच में दोषी पाए जाने पर लोकायुक्त ने दोषियों से साढ़े चार लाख की राशि वसूली और विभागीय चार्जशीट देने के निर्देश दिए हैं.

जिला परिषद सीईओ परशुराम धानका ने बताया कि पंचायत निवासी धनजी कटारा नामक व्यक्ति ने लोकायुक्त कार्यालय में पंचायत में ग्रामीण विकास विभाग के टीएसफसी और एसएफसी मद में हुए कार्यों में भ्रष्टाचार की शिकायत की थी.

शिकायत पर लोकायुक्त के निर्देश पर जिला परिषद डूंगरपुर की टीम ने जांच की थी. जांच टीम ने जांच में 4 लाख 59 हजार 352 रूपए की वित्तीय अनियमितता निकालते हुए मामले में तत्कालीन सरपंच, दो सचिव, तीन सहायक अभिंयता, एक कनिष्ठ अभियंता को दोषी माना था.

सीईओ धानका ने बताया कि लोकायुक्त के निर्देश पर सभी दोषियों से वित्तीय अनियमितताओं की राशि बराबर वसूल कर ली गई है और दो सचिव, चार तकनीकी अधिकारियों को मामले में चार्जशीट प्रस्तावित की गई है. वहीं तत्कालीन सरपंच के खिलाफ पंचायती राज अधिनियम के तहत कार्रवाई के लिए संभागीय आयुक्त को लिखा गया है.

Tags: Dungarpur news, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर