Dungarpur: इन 24 उपायों से अभी तक रोक रखी है शहर में Corona की 'एंट्री'
Dungarpur News in Hindi

Dungarpur: इन 24 उपायों से अभी तक रोक रखी है शहर में Corona की 'एंट्री'
शहर के सभी प्रवेश द्वारों और कलक्ट्रेट तथा अस्पताल में पोर्टेबल वाश बेशिन लगाए गए हैं.

अपने नवाचारों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाली डूंगरपुर नगरपरिषद (Dungarpur Municipal Council) ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए भी दो दर्जन से अधिक नवाचार किए हैं.

  • Share this:
डूंगरपुर. अपने नवाचारों को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहने वाली डूंगरपुर नगरपरिषद (Dungarpur Municipal Council) ने कोरोना वायरस से बचाव के लिए भी दो दर्जन से अधिक नवाचार किए हैं. डूंगरपुर शहर को कोरोना वायरस (Corona virus) से बचाने के लिए यहां नगरपरिषद की ओर से हर मुमकिन कदम नवाचारों के साथ उठाया गया. इसी का परिणाम है के प्रदेश में तेजी से फैल रहा कोरोना वायरस अभी तक डूंगरपुर शहर में 'एंट्री' नहीं कर पाया है.

जिले में कोरोना के 9 पॉजिटिव पाए जा चुके हैं
लगातार 45 दिन से शहर की स्वच्छता और सुरक्षा बनाये रखने पर जिला प्रशसान के साथ जिला न्यायाधीश ने डूंगरपुर निकाय के कार्यो की प्रशंसा करते हुए प्रशंसा-पत्र प्रदान किया है. सभापति केके गुप्ता के निर्देश पर डूंगरपुर नगर परिषद की टीम हर उस पहलू पर दिन रात काम कर रही है. डूंगरपुर जिले में कोरोना के 9 पॉजिटिव पाए जा चुके हैं, लेकिन इसकी अभी तक डूंगरपुर शहर में एंट्री नहीं हो पाई है.

कोरोना की एंट्री रोकने के लिए नगर परिषद ने किये ये नवाचार
- परिषद की ओर से नियमित रूप से दिन के साथ ही रात को भी सफाई कार्य कराया जा रहा है.


- शहर में गत 16 मार्च से सोडियम हापोक्लोराइट का छिड़काव एवं ब्लीचिंग पाउडर का नियमित उपयोग किया जा रहा है.
- पुरे शहर में घर घर निशुल्क मास्क वितरित करवाए गए. शहर की महिलाओं से मास्क तैयार करवाए जा रहे हैं.
- नगरपरिषद द्वारा संचालित रोटी बैंक के सहयोग से निर्धन परिवारों को भोजन पहुंचाया जा रहा है.
- सोशल डिस्टेंसिंग के लिए किराणा और मेडिकल की दुकानों समेत श्मशान घाट में भी गोले बनवाये.
- आपातकालीन केंद्र की स्थापना की गई. राज्य और जिले बाहर से दवाई लाने के लिए एक वाहन की व्यवस्था की गई.
- शहर के मध्य सेनेटाइजिंग टनल स्थापित की गयी.
- शहर के सभी प्रवेश द्वारों और कलक्ट्रेट तथा अस्पताल में पोर्टेबल वाश बेशिन लगाए.
- पूरे शहर पर ड्रोन कैमरे से नजर रखी जा रही है.
- नगरपरिषद ने अपनी सभी दुकानों का किराया माफ कर दिया है.
- शहर में परिषद ने डोर तो डोर थर्मल स्क्रीनिंग करवाई.
- गायों और पक्षियों के सरंक्षण के लिए दाने-पानी की व्यवस्था की गई.
- लावारिस गायों को गौशाला में छोड़ा जा रहा है.
- शहर में बेरिकेटिंग करवाई गई ताकि लोग इधर-उधर फालतू ना घूमें.
- डॉक्टर और नर्सिंगकर्मियों के ठहरने और खाने-पीने की व्यस्व्था भी नगरपरिषद द्वारा की जा रही है.
- शहर में घर-घर शुद्ध आरओ पानी की आपूर्ति की जा रही है.
- सभी वार्डों की नियमित मॉनिटरिंग करवाई जा रही है.
- शहर के सभी घरों को अंदर से भी सेनेटाइज कराया गया है.
- कोरोना वारियर्स के शहर में निशुल्क कैंटीन की स्थापना.
- नगर परिषद ने अपने गेस्ट हाउस में 50 लोगों की क्षमता का क्वॉरेंटाइन सेंटर तैयार किया है.
- पेड़-पौधों और बगीचों का समुचित सरंक्षण ताकि आबो हवा शुद्ध बनी रहे.
कोरोना वारियर्स का किया सम्मान
नगर परिषद में शहर को साफ सुथरा रखने में अपनी सेवाएं दे रहे कार्मिकों का सम्मान कर उन्हें उनका हौसला बढ़ाया. वहीं से तेज धूप में ड्यूटी कर रहे पुलिसकर्मियों को टी-शर्ट और छाते देकर उनका भी सम्मान किया. सफाईकर्मियों को नगरपरिषद ने एक-एक हजार रुपया प्रोत्साहन राशि दी है.

Corona Warrior: उदयपुर के इस परिवार को हर कोई कर रहा है सैल्यूट

Rajasthan: शिक्षा विभाग के इस आदेश से हजारों शिक्षक पड़े दुविधा में
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading