डूंगरपुर प्रदर्शन: हेलिकॉप्टर से रात को ही डूंगरपुर रवाना हुए कई अधिकारी, पुलिस फायरिंग में 1 की मौत

सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि उदयपुर- डूंगरपुर जिले में हिंसक प्रदर्शन की स्थिति दुर्भाग्यपूर्ण है. (फाइल फोटो)
सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि उदयपुर- डूंगरपुर जिले में हिंसक प्रदर्शन की स्थिति दुर्भाग्यपूर्ण है. (फाइल फोटो)

सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने कहा है कि टीएसपी क्षेत्र के विद्यार्थियों और नौजवानों से अपील है कि हिंसा को छोड़ें और सरकार के समक्ष अपनी बात रखने के लिए आगे आएं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 27, 2020, 9:00 AM IST
  • Share this:
डूंगरपुर. राजस्थान के डूंगरपुर में शिक्षक भर्ती-2018 (Teacher Recruitment -2018) में टीएसपी क्षेत्र के अनारक्षित 1167 पदों को एसटी अभ्यार्थियों से भरने की मांग को लेकर प्रदर्शन जारी है. इसी बीच खबर सामने आई है कि शनिवार को डूंगरपुर में पुलिस की गोलीबारी (Police Firing) में एक युवक की मौत हो गई है और एक अन्य नाबालिग किशोर घायल हो गया. मृतक की पहचान 19 वर्षीय तरुण अहारी (Tarun Ahari) के रूप में की गई है. वह खेरवाड़ा कचरा फला का निवासी बताया जा रहा है. वहीं, 14 वर्षीय अल्पेश घायल हो गया है. उसे अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है.

वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए अशोक गहलोत की सरकार ने तीन वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को डूंगरपुर के लिए रवाना कर दिया है, ताकि स्थिति को नियंत्रित किया जा सके. DG एमएल लाठर, एडीजी दिनेश एमएन और पुलिस कमिश्नर आनंद श्रीवास्तव डूंगरपुर के लिए रवाना हो गए हैं. जानकारी के मुताबिक,  सीएम अशोक गहलोत ने डूंगरपुर-उदयपुर की स्थिति की समीक्षा की है. बैठक के बाद डीजी एमएल लाठर, कमिश्नर आनन्द श्रीवास्तव और एडीजी एमएन दिनेश सहित अन्य अफसरों को रात में ही हेलिकॉप्टर से डूंगरपुर भेजा गया है. वहीं, सीएम ने प्रदर्शनकारियों से शांति और कानून-व्यवस्था भंग नहीं करने की अपील की है. सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि न्यायोचित मांगों पर विचार के लिए सरकार हर समय तैयार है.

केंद्र से सीआरपीएफ उतारने की मांग की
वहीं, सूत्रों की हवाले से यह भी खबर है कि राज्य सरकार ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिए केंद्र से सीआरपीएफ उतारने की मांग की है. साथ ही सीएम अशोक गहलोत ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि उदयपुर डूंगरपुर जिलों में हिंसक प्रदर्शन की स्थिति दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने प्रदर्शनकारियों से शांति बनाए रखने और कानून-व्यवस्था को भंग नहीं करने की अपील है. गहलोत ने कहा है कि सरकार प्रदेश के हर वर्ग के हितों की रक्षा के लिए संकल्पबद्ध है. हम समाज के किसी भी वर्ग की कानून-सम्मत व न्यायोचित मांगों पर विचार करने और संवाद के लिए हर समय तैयार हैं.
सरकार के समक्ष अपनी बात रखने के लिए आगे आएं


सीएम अशोक गहलोत ने कहा है कि टीएसपी क्षेत्र के विद्यार्थियों और नौजवानों से अपील है कि हिंसा को छोड़ें और सरकार के समक्ष अपनी बात रखने के लिए आगे आएं. हमारी सरकार का यह दायित्व है कि सभी वर्गाें को साथ लेकर चले. और किसी भी कीमत पर प्रदेश में शांति और सौहार्द के माहौल में कानून-व्यवस्था को बनाए रखें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज