• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया से बचाएगी गम्बूशिया मछलियां

डेंगू, मलेरिया और चिकनगुनिया से बचाएगी गम्बूशिया मछलियां

Photo- News18.com/ETV

Photo- News18.com/ETV

राजस्थान में अच्छी बारिश के बाद अब मौसमी बीमारियों से गम्बूशिया मछली बचाएगी.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
  • Share this:
    राजस्थान में अच्छी बारिश के बाद अब परेशानी का सबब बनी मौसमी बीमारियां से गम्बूशिया मछली बचाएगी.
    दरअसल, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने प्रदेश में मौसमी बीमारियों विशेष रूप से मलेरिया, डेंगू, स्क्रबटाईफस, चिकनगुनिया आदि पर प्रभावि नियंत्रण के लिए जलस्रोतों में गम्बूशिया मछलियां डालने के निर्देश दिए है. साथ ही मौसम की बीमारियों की स्थिति पर कड़ी नजर रखने, मौसमी बीमरियों की रोकथाम के लिए नियमित रूप से एन्टी लार्वा गतिविधियां करने एवं आवश्यकतानुसार फोगिंग करवाने के निर्देश दिए हैं.
    राठौड़ शनिवार को स्वास्थ्य भवन में मौसमी बीमरियों की समीक्षा हेतु जिला कलेक्टरों एवं चिकित्सा व स्वास्थ्य अधिकारियों के साथ आयोजित वीडियो कॉफ्रेंस को सम्बोधित कर रहे थे. चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री एवं प्रमुख शासन सचिव वीनू गुप्ता ने प्रदेश के सभी जिलों में मौसमी बीमारियों की स्थिति की विस्तार से समीक्षा की एवं मौसमी बीमारियों की जांच हेतु आवश्यक उपकरणों की स्थिति तथा उपचार के लिए आवश्यक दवाईयों की आपूर्ति की स्थिति की विस्तार से जानकारी ली. एलाइजा रीडर कार्यशील रहे चिकित्सा मंत्री ने प्रदेश के सभी जिलों में मलेरिया,डेंगू व स्क्रबटाईफस की जांच के लिए एलाइजा रीडर के कार्यशील रहने के साथ ही पर्याप्त जांच किट की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. प्रदेश के विभिन्न राजकीय चिकित्सालयों में कुल 67 एलाइजा रीडर कार्यशील हैं. रेपिड रेस्पोन्स टीमें लगायें उन्होंने मलेरिया, डेंगू, स्क्रबटाईफस आदि बीमारी के आउटब्रेक होने की स्थिति में तत्काल सम्बन्धित क्षेत्रों में रेपिड रेस्पोन्स टीमें लगाने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि इन टीमों के पास जांच की व्यवस्था के साथ ही आवश्यक दवाईयों की आपूर्ति भी सुनिश्चित की जाये.
    एण्टी लार्वा गतिविधियॉ संचालित करेंः
    राठौड ने जल संग्रहण के सभी क्षेत्रों में गम्बूशिया मछलियां डालने के साथ ही मच्छरों की रोकथाम के लिये पानी एकत्रित हाने वाले सभी स्थानों पर नियमित रूप से एन्टीलार्वा गतिविधियॉ आयोजित करने के निर्देश दिए. उन्होंने स्थानीय निकायों से मिलकर फोगिंग का कार्य भी करवाने के निर्देश दिए. इस समय कुल 785 फोगिंग मशीनों से फोगिंग किया जा रहा है. प्रदेश में कुल 2407 हेचरीज में गम्बूशिया मछलियॉ तैयार की जा रही हैं पशुपालन विभाग के सहयोग से स्क्रबटाईफस रोकें चिकित्सा मंत्री ने स्क्रबटाईफस के लिये पशुपालन विभाग के सहयोग से आवश्यकतानुसार क्षेत्रों में पशुओं पर निर्धारित लेप करवाने की व्यवस्था के निर्देश दिए. उन्होंने स्क्रबटाईफस से प्रभावित क्षेत्रों में कडी निगरानी के साथ ही इसकी रोकथाम के लिये जन सामान्य को आवश्यक जानकारियां देने के भी निर्देश दिए. स्क्रबटाईफस से प्रभावित मरीजों का भी तत्काल स्वास्थ्य परीक्षण करवाने के निर्देश दिए गये हैं.
    ई-उपकरण प्रमुख शासन सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य वीनू गुप्ता ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को खराब पडे उपकरणों को ई-उपकरण के तहत तत्काल ठीक करवाने एवं इन्स्टाल होने से शेष रहे उपकरणों को तत्काल इन्स्टाल करवाने के निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि चिकित्सा संस्थानों में कोई भी उपकरण अनइन्स्टाल या खराब नहीं रहे. भरतपुर, बांरा, अलवर को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश ः गुप्ता ने मलेरिया, डेंगू व स्क्रबटाईफस के मरीजों की संख्या की जिलेवार समीक्षा की एवं भरतपुर, बांरा व अलवर को विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए. उन्होंने स्क्रबटाईफस से प्रभावित क्षेत्रों में तत्काल स्पे्र करवाने के निर्देश दिए. स्वास्थ्य अधिकारी फील्ड विजिट करें प्रमुख शासन सचिव ने सभी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को नियमिति रूप से फील्ड विजिट कर मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिये की गयी कार्यवाही की मानिटरिंग करने एवं समय पर चिकित्सा कर्मियों की उपालब्धता सुनिश्चित करने के निर्देश दिए. अतिरिक्त मिशन निदेशक बी. एल. कोठारी ने सभी जिलों में मौसमी बीमारियों के बारे में आवश्यक आईईसी के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए. उन्होंने भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत किये जा रहे भुगतान की नियमित समीक्षा करने एवं समय पर जबाब भिजवाने के निर्देश दिए. राजस्थान मेडिकल सर्विसेज कॉर्पोरेशन के प्रबन्ध निदेशक ओम प्रकाश कसेरा ने कॉर्पोरेशन द्वारा उपकरणों व दवाईयों की समय पर आपूर्ति के लिये आवश्यक निर्देश दिए . निदेशक जन स्वास्थ्य डॉ. बी.आर.मीणा ने प्रदेश में मौसमी बीमारियों की रोकथाम के लिये की जा रही गतिविधियों पर विस्तार से प्रकाश डाला. वीसी में निदेशक आरसीएच डॉ. वी.के. माथुर एवं अतिरिक्त निदेशक, ग्रामीण स्वास्थ्य डॉ. सुनील सिंह सहित स्वास्थ्य निदेशालय के वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज