अपना शहर चुनें

States

डूंगरपुर में पुलिस संरक्षण में रेत माफिया कर रहे बजरी का अवैध खनन

राजस्थान के डूंगरपुर जिले के आसपुर थाना क्षेत्र में पुलिस संरक्षण में रेत माफियाओं द्वारा बजरी खनन का अवैध कारोबार खुलेआम बेखौफ होकर किया जा रहा है. आसपुर क्षेत्र से गुजराने वाली सोम नदी को चिर कर रेत माफिया रोजाना सरकारी खजाने को लाखों का चूना लगाते हुए मोटी कमाई कर रहे हैं.

  • Share this:
राजस्थान के डूंगरपुर जिले के आसपुर थाना क्षेत्र में पुलिस संरक्षण में रेत माफियाओं द्वारा बजरी खनन का अवैध कारोबार खुलेआम बेखौफ होकर किया जा रहा है. आसपुर क्षेत्र से गुजराने वाली सोम नदी को चिर कर रेत माफिया रोजाना सरकारी खजाने को लाखों का चूना लगाते हुए मोटी कमाई कर रहे हैं.

पुलिस के संरक्षण, खनन विभाग की मिलीभगत और प्रशासन के मौन ने रेत माफियों के हौसलें बुलंद कर दिए हैं. डूंगरपुर जिले के आसपुर क्षेत्र से गुजरती सोम नदी के पेटे में आने वाले रामा, करकोली, फतेहपुरा और उदयपुर-डूंगरपुर जिले के सेतु सोम पुल के निचले क्षेत्र में पिछले लंबे समय से अवैध रूप से बजरी खनन बेरोकटोक और बेखौफ तरीके से हो रही है.

यहां रोजना रात के अंधेरे में कई हाई पावर जेसीबी से लाखों टन रेत डंम्परो, ट्रकों और ट्रक्ट्ररो में भरी जाती है. इन क्षेत्रो से यह रेत डूंगरपुर, बांसवाडा जिलों में रातों रात सप्लाई की जाती है. पूर्ण प्रतिबंध के बावजूद भी रात भर रेत माफिया सोम नदी से लाखों की रेत पार कर लेते हैं. साथ ही रोजाना सरकारी खजानो को मिलने वाले हजारों रुपये के राजस्व को भी चूना लगा रहे हैं.



इस अवैध बजरी खनन के कारोबार की बीती रात पड़ताल करने की कोशिश की गई तो ये तस्वीर सामने आई कि खुद आसपुर पुलिस रेत माफियोें का संरक्षण दे रही है. बीती रात सोम नदी के पास पुलिस जवान यहां आने वाले हर रेत भरने वाले वाहन की बकायदा एंट्री कर लेखाजोखा रख रहा था कि कौन सा वाहन कब नदी में उतर रहा है और कब रेत भर कर वहां से निकल रहा है.
इस संबंध में कांस्टेबल से पूछा गया कि ये एंट्री कैसी है तो उसने साफ तौर पर बताया कि श्रीमान थाना प्रभारी के निर्देश पर वहां तैनात है और रेत की गाड़ियों की निगरानी रख रहा है. ऐसे तौर पर इसे नकारा नहीं जा सकता है कि इस अवैध रेत कारोबार को आसपुर पुलिस की पनाह है और इस खेल में आसपुर एचएचओं को मोटी रकम वसूली के रूप में दी जा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज