• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • डूंगरपुर में 65 गांव अपराधविहीन, 179 गांवों में भी अपराध कम

डूंगरपुर में 65 गांव अपराधविहीन, 179 गांवों में भी अपराध कम

सागवाड़ा में अपराधविहीन गांव बनाने में सहयोग देने पर ग्राम पंचायत के प्रधान रेखा रोत को भी सम्मानित किया गया.

सागवाड़ा में अपराधविहीन गांव बनाने में सहयोग देने पर ग्राम पंचायत के प्रधान रेखा रोत को भी सम्मानित किया गया.

राजस्थान के डूंगरपुर जिले में शनिवार को पुलिस की ओर से अपराधविहीन गांवों के सरपंच, सचिव और प्रधानों को सम्मानित किया गया.

  • Pradesh18
  • Last Updated :
  • Share this:
    राजस्थान के डूंगरपुर जिले में शनिवार को पुलिस की ओर से अपराधविहीन गांवों के सरपंच, सचिव और प्रधानों को सम्मानित किया गया.
    जिले के सागवाड़ा में अपराधविहीन गांव बनाने में सहयोग देने पर ग्राम पंचायत के प्रधान रेखा रोत सहित सरपंच एवं सचिवों को प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए. पंचायत समिति के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रामजीलाल चन्देल थे.
    179 गांवों में न के बराबर अपराध:
    चन्देल ने बताया कि राज्य सरकार ने नवम्बर, 2015 से जुलाई, 2016 के मध्य अपराधविहीन गांव रहने पर सरपंच एवं सचिवों को सम्मानित करने का निर्णय किया था. जिले में 179 गांव में 3 या 3 से कम अपराध दर्ज हुए.
    जिले के 65 गांव अपराधविहीन:
    जिले में इस दौरान अपराध न होने पर 65 गांवों को अपराधविहीन घोषित किया गया है. चन्देल ने सभी से पूर्ण रूप से अपराधविहीन गांव बनाने का आह्वान किया. एसडीओ शेखावत ने कहा कि क्षेत्र में शिक्षा के अभाव में छोटी-छोटी बात को लेकर अपराध हो रहे हैं जिनपर जागरुकता के साथ नियंत्रण किया जा सकता है. डिप्टी भाटी, प्रधान रोत व सरपंच शान्तिलाल मीणा ने भी संबोधित किया. इस दौरान कुंआ थानाधिकारी मोहनसिंह, आसपुर के लक्ष्मणलाल डांगी, निठाऊवा के भगवानलाल बुनकर, चीतरी के दिलिपसिंह झाला, चन्द्रशेखर शुक्ला, प्रदीप भुता मौजूद थे. संचालन अतुल शाह ने किया.
    इस कार्यक्रम की अध्यक्षता एसडीओ गोपालसिंह शेखावत ने की. इस अवसर पर प्रधान रेखा रोत और डिप्टी सुरेन्द्रसिंह भाटी बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद रहे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज